चिराग कैसे बनवायेंगे BJP की सरकार? पहले फेज में हुए चुनाव में LJP की स्थिति 'वोटकटवा' वाली ही रही! अब दूसरे फेज में मारेंगे मैदान...

चिराग कैसे बनवायेंगे BJP की सरकार? पहले फेज में हुए चुनाव में LJP की स्थिति 'वोटकटवा' वाली ही रही! अब दूसरे फेज में मारेंगे मैदान...

PATNA: लोजपा सुप्रीमो चिराग पासवान लगातार कह रहे कि बीजेपी के साथ मिलकर वे बिहार में सरकार बनायेंगे। लोजपा दावा कर रही है कि इस चुनाव में लोजपा का प्रदर्श काफी बेहतर होगा। चिराग पासवान लगातार नीतीश कुमार पर अटैक पर अटैक किये जा रहे हैं। इस बार विधानसभा चुनाव में लोजपा 34 सीटों पर उम्मीदवार उतारी है। इनमें से मात्र छह सीटें ही ऐसी हैं, जहां भाजपा के प्रत्याशी के खिलाफ लोजपा उम्मीदवार भी मैदान में हैं। इन छह में पांच सीटों पर दूसरे चरण में ही चुनाव है। ऐसे में जब लोजपा ऐलान कर चुकी है कि उसके उम्मीदवार जीतने के बाद भाजपा का समर्थन देंगे. पहले फेज में लोजपा के 41 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे। लेकिन पहले फेज में लोजपा वोटकटवा ही साबित हुई है। अधिकांश सीटों पर लोजपा प्रत्याशी लड़ाई में नहीं दिख रहे हैं।जानकार बताते हैं कि लोजपा का पहले फेज में खाता भी नहीं खुलेगा।ऐसे में बड़ा सवाल यही है कि चिराग पासवान बीजेपी की सरकार कैसे बनवायेंगे?

इन सीटों पर हुए चुनाव में लोजपा की स्थिति अच्छी नहीं

राजनीतिक जानकार बताते हैं, लोजपा पहले फेज में संपन्न हुए चुनाव में जिस सीट से अपने प्रत्याशी की जीत के दावे कर रही है हकीकत में उनकी स्थिति बेहतर नहीं है। पटना जिले की पालीगंज सीट जहां से लोजपा ने उषा विद्यार्थी को टिकट दिया था उनका तीसरे-चौथे नंबर पर रहने की संभावना है।भाजपा के वरिष्ठ नेता रहे राजेंद्र सिंह दिनारा से लोजपा उम्मीदवार हैं उनकी स्थिति थोड़ी बेहतर जरूर बताई जाती है। वे जदयू प्रत्याशी व विज्ञान एवं प्रावैधिकी मंत्री जय कुमार सिंह व महागठबंधन के उम्मीदवार को चुनौती दे रहे .भाजपा के पूर्व विधायक रामेश्वर चौरसिया सासाराम से चुनावी मैदान में  है।यहां भी वोटिंग हो गया है लेकिन जीत मिलेगी इसकी गारंटी नहीं। लोजपा के दिग्गज उम्मीदवारों में सर्वाधिक की परीक्षा पहले चरण में ही था। भाजपा के वर्तमान विधायक डॉ रवींद्र यादव झाझा विधानसभा से लोजपा के टिकट पर मैदान में हैं। झाझा सीट एनडीए के तहत जदयू को चले जाने के बाद डॉ रवींद्र यादव लोजपा के सिंबल पर मैदान में उतरे। इस बार वे जीतकर पार्टी को यह सीट दिलाने में सफल होंगे इसकी संभावना कम ही बताई जा रही है। ओबरा से लोजपा कैंडिडेट की स्थिति भी बहुत बेहतर नहीं बताई जा रही.जहानाबाद की लोजपा कैंडिडेट की स्थिति भी अच्छी नहीं । वोटिंग के बाद क्षेत्र में अब चर्चा तेज हो गई है कि जहानाबाद की कैंडिडेट को काफी कम मत मिले।

चिराग की मंशा को बिहार की जनता समझ गई है

पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने कहा है,चिराग की मंशा को बिहार की जनता समझ रही है।चिराग जितनी कोशिश करें वे अपनी मंशा में कामयाब नहीं होंगे। मांझी ने कहा, अपने मुख्यमंत्री उम्मीदवार तेजस्वी यादव को राघोपुर से जिताने के लिए जंगलराज के हनुमान चिराग पासवान चाहे कितनी कोशिश कर लें पर अब बिहार की जनता चिराग-तेजस्वी के आंतरिक गठबंधन को समझ चुकी है। बिहार की जनता जंगल राज के युवराज और जंगलराज के हनुमान के सपनों को नेस्तनाबूत कर देगी। 

Find Us on Facebook

Trending News