चिराग पासवान ने पूरी की पिता की ख्वाहिश, 44 साल बाद पहली बार दोनों मांओं को एक साथ लाने में हुए कामयाब

चिराग पासवान ने पूरी की पिता की ख्वाहिश, 44 साल बाद पहली  बार दोनों मांओं को एक साथ लाने में हुए कामयाब

KHAGDIYA : जमुई सांसद पर यह आरोप लगते हैं कि पिता के निधन के बाद वह अपने परिवार को साथ लेकर चलने में कामयाब नहीं हुए। चाचा पशुपति और भाई प्रिंस से हुआ अलगाव इस बात का प्रमाण है। इन सबसे अलग अब चिराग पासवान ने वह काम कर दिया है। जो शायद उनके पिता रामविलास पासवान भी जीवित रहते पूरा नहीं कर पाए। चिराग पासवान ने पहली बार अपनी मां और बड़ी मां को एक साथ लाने में कामयाब हुए है। कल रामविलास पासवान की दोनों पत्नियों की एक साथ गले लगते एक तस्वीर सामने आई। जो देखते ही देखते सभी सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी। सभी इन तस्वीरों पर अपनी खुशी जाहिर कर रहे थे। 

बता दें कि लगभग 44 साल बाद पहली बार संभव हो पाया है जब स्वर्गीय राम विलास पासवान की दोनों पत्नियां एक-दूसरे से मिलीं। लंबे अरसे के बाद सामने आई इस पारिवारिक मिलन की तस्वीर ने वाकई में लोगों को सुखद अनुभूति करा दी. ऐसा पहली बार हुआ कि जब दिवंगत रामविलास पासवान की दोनों पत्नियां एक साथ मिलीं और दोनों ने एक-दूसरे को गले लगाया. इस मिलन की यह तस्वीर पहली बार देखने को मिली. दोनों के मिलन की यह घड़ी ऐसी थी और उनके चेहरे पर ऐसा तोष था मानो सालों की कसक क्षण भर में दूर हो रही हो. दोनों माताओं ने चिराग को जी भरकर आशीष भी दिया.

दरअसल लोजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान अपनी मां और परिवार के दूसरे सदस्यों के साथ अपनी बड़ी मां राजकुमारी देवी से मिलने गांव पहुंचे. लंबे समय के बाद इस परिवारिक मुलाकात की तस्वीर ने परिवार के लोगों के साथ ही उनके चाहने वाले लोगों को भाव-विभोर कर दिया। इस मौके पर परिवार के दूसरे सदस्य भी साक्षी के तौर पर मौजूद रहे. दरअसल रामविलास पासवान के परिवार में जिस तरीके से राजनीतिक लड़ाई चल रही है, वैसे में बड़ी मां के साथ चिराग पासवान का यह सौहार्दपूर्ण रवैया चर्चा का विषय बना हुआ है।

परिवार को एक साथ लाने की कोशिश में चिराग

चिराग के परिवार का रिश्ता उनके चाचा पशुपति पारस से खराब हो गया है. इन दिनों चिराग पासवान अपने परिवार के लोगों के साथ काफी घुलमिल गए हैं. पिछले दिनों चिराग पासवान खगड़िया पहुंचे थे, जहां अपने फूफा के घर जाकर उन्होंने उनसे मुलाकात की. इस दौरान चिराग की मां रीना पासवान भी उनके साथ थीं. दररसल, चिराग पासवान अपने पूरे परिवार को एकजुट करने में लगे हैं. चिराग की इस पहल की चारों तरफ तारीफ भी हो रही।

Find Us on Facebook

Trending News