CM नीतीश ने गांधी मैदान से भी तेजस्वी पर बोला हमला,कहा-कुछ लोगों को राज्य की कोई जानकारी नहीं सिर्फ ट्वीट करना जानते हैं

CM नीतीश ने गांधी मैदान से भी तेजस्वी पर बोला हमला,कहा-कुछ लोगों को राज्य की कोई जानकारी नहीं सिर्फ ट्वीट करना जानते हैं

PATNA : आजादी के जश्न में पटनावासी डूब चुके हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार को गांधी मैदान में सुबह नौ बजे झंडोत्तोलन किया। इस दौरान वे 11 टुकड़ियों की परेड की सलामी ली। कोरोना संक्रमण के चलते इस बार सिर्फ पासधारक ही गांधी मैदान समारोह में पहुंचे। इस बार झांकियां नहीं निकलीं। स्कूल-कॉलेज बंद हैं। ऐसे में कोरोना के साये के बीच राजधानी वासी घरों में रहकर ही आजादी का पर्व मना रहे हैं।

तेजस्वी पर एक बार फिर से हमला

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने झंडोत्तोलन के बाद बिहार के लोगों को संबोधित किया है।अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने बिहार की उपलब्धियों का बखान किया।इतना हीं बिना नाम लिए नेता प्रतिपक्ष पर बड़ा अटैक भी किया।सीएम नीतीश ने तेजस्वी पर तंज कसते हुए कि कुछ लोगों को राज्य की कोई जानकारी नहीं होती केवल ट्वीट करना जानते हैं।दो दिन पहले भी एक उद्धाटन कार्यक्रम में बिना नाम लिए तेजस्वी पर बड़ा हमला बोला था और कहा था कि जानकारी होती नहीं घऱ में बैठक सोशल मीडिया पर अनाप-सनाप लिखता रहता है।

ये भी पढ़ें--- CM नीतीश ने गांधी मैदान से किया ऐलान...रक्त प्लाज्मा डोनेट करने वालों को मिलेगा 5 हजार रू का पुरस्कार

सीएम नीतीश ने आगे कहा कि आज कोरोना की वजह से क्या स्थिति हो गई है.सरकार कोरोना की बीमारी में शुरू से ही सचेत रही है.हमारी सरकार विषम परिस्थितियों में चिकित्सा के लोगों का पुलिस के लोगों का अभिनंदन करती है.हम लोगों ने 23 मार्च को आंशिक लॉकडाउन किया और प्रधानमंत्री ने 24 मार्च को लॉकडाउन किया.बिहार सरकार ने जरूरत के हिसाब से यहां पाबंदियां लगाई है .जब से लॉक डाउन खत्म हुआ य़ानि जून-जुलाई में आंकड़े बढ़े।नीतीश कुमार ने कहा कि हम लगातार कोरोना जांच का सिलसिला बढ़ा रहे हैं अब बिहार में 130000 जांच प्रतिदिन हो रहे हैं.जांच तो हो रही है लेकिन हम लोगों ने तीन स्तर पर इंतजाम करके रखा है। हम लोग लगातार आईसीयू वेंटीलेटर बढ़ाने की व्यवस्था कर रहे हैं। सरकार स्वास्थ्य कर्मियों के मनोबल को बढ़ाने का प्रयास कर रही है.

ये भी पढ़ें-- सीएम नीतीश ने नियोजित शिक्षकों के लिए गांधी मैदान से किया बड़ा ऐलान, शिक्षक दिवस के दिन मिल सकती है खुशखबरी

सीएम नीतीश ने कहा कि बिहार में मौसम की स्थिति क्या रही, फरवरी में भी वर्षा मार्च में भी अप्रैल में भी वर्षा जिसकी वजह से रवि की फसल का नुकसान हुआ।  मैट्रिक और इंटर की परीक्षा में फेल छात्रों को प्रमोट किया गया।दुनिया में अभी तक इस तरह की बीमारी के बारे में नहीं जानता था.हम लोगों को शुरू में लग रहा था कि मार्च के अंत तक यह सब कुछ ठीक हो जाएगा मौसम में टेंपरेचर पड़ेगा तो सब कुछ ठीक हो जाएगा.आप लोग तो देखी रहे हैं कि किस तरह की स्थिति हुई। हम सभी को मालूम है कि 15 जून से मॉनसून शुरू होता है लेकिन इस बार 15 जून के पहले से ही मॉनसून शुरू हो गया।नेपाल में वर्षा की वजह से 16 जिले प्रभावित हो गए और बाढ़ की चपेट में 81 लाख लोग आ गए।सरकार बाढ़ राहत केंद्र चला रही है लोगों के लिए भोजन का इंतजाम कर रही हैं।हम लोग एक एक काम कर रहे हैं.भूमि विवाद निपटाने के लिए हमने कई जगह की चर्चा की है हर थाने मैं हर सप्ताह मीटिंग करने को कहा है। हम लोगों ने 2011 में लोक सेवा अधिकार कानून लागू किया,अब तक एक करोड़ 88 लाख आवेदनों का निष्पादन हुआ। हम लोगों ने एक्ट में संशोधन करके जिन लोगों को राशन कार्ड नहीं मिला है उसे सुधारने का काम किया उन्हें लोक सेवा अधिकार कानून के तहत लेकर आए।



Find Us on Facebook

Trending News