भू-माफिया के साथ मिलकर जमीन के अवैध कब्जे का रैकेट चला रहे सीओ और रजिस्ट्रार, पुलिस ने दर्ज किया केस, जाने धंधे में कौन-कौन है शामिल

भू-माफिया के साथ मिलकर जमीन के अवैध कब्जे का रैकेट चला रहे सीओ और रजिस्ट्रार, पुलिस  ने दर्ज किया केस, जाने धंधे में कौन-कौन है शामिल

KATIHAR : कटिहार में भू माफिया और अधिकारियों की गठजोड़ से बड़ा रैकेट चलाये जाने के आरोप में जिला निबंधक, हसनगंज प्रखंड के अंचल अधिकारी, अंचल कर्मी सहित कुल पांच लोगों पर कोर्ट परिवाद के आधार पर सहायक थाना में हुआ मामला दर्ज किया गया है। दरअसल इससे पहले भी समय-समय पर कटिहार से ऐसा कई मामला सामने आया है जो न सिर्फ चौंकाने वाला होता है बल्कि भ्रष्टाचार रोकने को लेकर सरकार के तमाम दावों के बीच अधिकारियों की ऐसी करतूत पर सवाल उठ रहा है।

गलत ढंग से जमीन कराई रजिस्ट्री

 मामला कटिहार के हसनगंज प्रखंड के एक जमीनी विवाद से जुड़ा हुआ है, इस मामले में पीड़ित पक्ष का आरोप है कि गलत ढंग से उनके जमीन को न सिर्फ रजिस्ट्री कर दिया गया है बल्कि उसका मोटेशन भी फर्जी तरीके से कर दिया गया है, इस मामले में पीड़ित ने कोर्ट परिवाद के आधार पर जिला निबंधक, हसनगंज प्रखंड के सीओ,सीआई सहित कुल पांच लोगों पर मामला दर्ज कर इंसाफ की उम्मीद जता रहे हैं।

जमीन मालिक को पता नहीं, दूसरे को बेच दी जमीन

मामले के बारे में बताया जा रहा है हसनगंज प्रखंड के शेख नईम ने 2018 में जुलेखा खातून से 39 डेसिमल 05 करी जमीन खरीदा था मगर 2023 में फर्जी तरीके से हसनगंज प्रखंड के ही मोहम्मद असलम ने दूसरे किसी को बेच दिया, बड़ी बात यह है इसकी रजिस्ट्री के दौरान विक्रेता के रूप में असलम मौजूद भी नहीं था, सिर्फ इतना ही नहीं इससे आगे भी जमीन के खरीदने वाले पक्ष इसका मोटेशन तक भी हसनगंज अंचल कार्यालय से फर्जी तरीके से करवा लिया। 

इस आरोप पर पीड़ित शेख नईम ने कोर्ट परिवाद पत्र दायर किया है, जिसके आधार पर अब सहायक थाना में जिला निबंधक, हसनगंज प्रखंड के अंचल अधिकारी उदय प्रसाद, अंचल निरीक्षक सदानंद मंडल फर्जी तरीके से जमीन बेचने के आरोपी मोहम्मद असलम सहित कुल पांच लोगों पर मामला दर्ज हुआ है। 

पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज

पीड़ित शेख नईम पूरे मामले पर इंसाफ की मांग कर रहे हैं। वही मामला दर्ज होने के बाद सदर डीएसपी शशि  शंकर कुमार ने कहा कि कोर्ट परिवाद पत्र के आधार पर जिला निबंधक आलोक कुमार, हसनगंज प्रखंड के सीओ, सीआई  सहित कुल पांच लोगों पर मामला दर्ज किया गया है, पूरे मामले पर जांच जारी है, जांच के बाद ही यह साबित हो पाएगा कि इस मामले में सरकारी अधिकारियों की भूमिका क्या है।

लेकिन कुल मिलाकर पिछले कुछ दिनों से कटिहार में भू माफिया और अधिकारियों की गठजोड़ से एक बड़ा रैकेट चलाया जा रहा है जिसके तहत ओरिजिनल विक्रेता के गैर मौजूदगी में ही न सिर्फ जमीन को दूसरे के नाम पर रजिस्ट्री किया जा रहा है बल्कि फर्जी तरीके से उस जमीन का मोटेशन भी हो रहा है, देखना है इस मामले पर अधिकारियों पर मामला दर्ज होने और मामला तूल पकड़ने के बाद इसका क्या निदान होता है।

Find Us on Facebook

Trending News