बिहार के क्राइम की तुलना इंग्लैंड से : बोले विधि मंत्री - बड़े से बड़ा तकनीक भी अपराध पर नहीं लगा सकता लगाम

बिहार के क्राइम की तुलना इंग्लैंड से : बोले विधि मंत्री - बड़े से बड़ा तकनीक भी अपराध पर नहीं लगा सकता लगाम

BHAGALPUR :- बिहार सरकार के विधि मंत्री ने बिहार में कानून का राज होने का दावा करते हुए कहा है कि पहले अपराधी पकड़ा नहीं जाता था, अभी अपराधियों को ढूंढ ढूंढ कर निकाला जा रहा है, मंत्री ने कहां की घटना को रोका नहीं जा सकता है लेकिन घटना की पुनरावृत्ति ना हो और अपराधी कितना भी नामचीन क्यों ना हो, सरकार उसे कठोर से कठोर दंड दिलाने को लेकर कार्य कर रही है, अपराध हो रहा है तो अपराधी भी पकड़े जा रहे हैं>

विधि मंत्री ने बिहार की तुलना इंग्लैंड से करते हुए कहा कि वहां अपराधियों को पकड़ने के लिए बेहतर तकनीक है। सीसीटीवी का अधिक इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन इसके बाद भी वहां अपराध पर काबू नहीं पाया जा सका है। साफ है अपराध पर लगाम लगाना संभव नहीं है। लेकिन हमारी सरकार में पुलिस लगातार अपराधियों को जेल भेजने का काम कर रही है। जो लोग 20 साल पहले जन्म लिए हैं उन्हें इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है कि कैसे पहले की सरकार में अपराध के बाद अपराधियों को पकड़ा ही नहीं जाता था। हमारी सरकार हर अपराधी को जमीन खोदकर बाहर निकाल रही है।

गन्ना उद्योग पर खुलकर की चर्चा

 गन्ना उद्योग मंत्री ने बिहार के सभी चीनी मिल को नए टेक्नोलॉजी के आधार पर विकसित किए जाने की बात करते हुए कहा कि पहले चीनी का मार्केट वैल्यू कम था अब ज्यादा हो गया है, क्योंकि अब गन्ना के सिरा से एथेनॉल तैयार करने की कवायद बिहार में प्रारंभ हो रही है, जिसको लेकर नई एथेनॉल नीति बनाई गई है, जिसके बाद नए-नए इन्वेस्टर आ रहे हैं, जिसके तहत चीनी मिल के द्वारा 20% एथेनॉल बनाया जाएगा, जिससे राष्ट्रीय स्तर पर विदेशी मुद्रा का बचत होगा, मंत्री प्रमोद कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन पर अध्यादेश लाया गया, और बिहार भारत का पहला राज्य है जहां एथेनॉल नीति लागू किया गया है, बिहार के बंद पड़े चीनी मिल को खोलने को लेकर पूछे गए सवाल पर गन्ना उद्योग मंत्री ने कहा कि प्राइवेट कंपनियां मिल चलाती है सरकार मिल लगाने को लेकर अनुदान और प्रमोशन देती है, मंत्री ने बिहार के 3 चीनी मिलों   की संपत्ति बेचकर किसानों और मजदूरों के बकाया को चुकता किए जाने की भी बात कही।

धार्मिक न्यास बोर्ड की जमीन का रहा है सर्वे

भागलपुर पहुंचे बिहार सरकार के गन्ना उद्योग एवं विधि मंत्री प्रमोद कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि बिहार में भूमि सर्वे का काम चल रहा है। सर्वे में न्यास बोर्ड की परीसंपत्तियों का भी सर्वे किया जा रहा है, सर्वे का काम पूरा होने के बाद उसका डाटा तैयार किया जाएगा, जिसके बाद न्यास बोर्ड की परिसंपत्तियों को लोग कहीं भी देख सकेंगे, इसके लिए पोर्टल भी बनाया जाएगा एक पोर्टल धार्मिक न्यास बोर्ड का होगा और एक जिला प्रशासन का पोर्टल होगा, सर्वे के बाद पूरे बिहार के मंदिरों और मठों की घेराबंदी भी की जाएगी और जो भी धार्मिक न्याय बोर्ड की परिसंपत्तियों पर अतिक्रमण होगा उसे जिला अधिकारी की पहल पर अंचलाधिकारी द्वारा मुक्त कराया जाएगा, वहीं


Find Us on Facebook

Trending News