दोबारा धमाके की तैयारी में कोरोना! कई देशों में लॉकडाउन की वापसी, चीन में मिले नए संक्रमित, अमेरिका में स्थिति गंभीर

दोबारा धमाके की तैयारी में कोरोना! कई देशों में लॉकडाउन की वापसी, चीन में मिले नए संक्रमित, अमेरिका में स्थिति गंभीर

N4N DESK: कोरोनावायरस, यह इस सदी की सबसे भयंकर बीमारी बन चुकी है। जहां बाकी बीमारियां और मर्ज समय के साथ और उचित दवाइयों के प्रभाव से खत्म हो गए थे, वहीं कोरोनावायरस लगातार अपना स्वरूप बदल रहा है, और वैज्ञानिकों की समझ से परे बना हुआ है। बात करेंगे कोरोना की लहर की, जो एक बार फिर कई देशों में सक्रिय हो गई है।

रूस में लगने वाला है लॉकडाउन

रूस में कोविड-19 महामारी फिर भयानक रूप लेने लगी है। स्थिति को देखते हुए सेंट पीटर्सबर्ग में लॉकडाउन वापस आ गया है। यहां 30 अक्टूबर से 7 नवंबर तक रेस्तरां, कैफे व अन्य गैर आवश्यक श्रेणी की दुकान, प्रतिष्ठान व संस्थान बंद रहेंगे। रूस में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के 35,660 नए मामले सामने आए, जबकि एक दिन पहले 37,678 मामले दर्ज किए गए थे। इस दौरान 1,072 लोगों की मौत हो गई। 

कोरोना के जनक की भी स्थिति खराब

विश्व को कोरोना का सबसे खतरनाक तोहफा देने वाले चीन के हालात भी कुछ सही नहीं है। पिछले 24 घंटे के दौरान वहां कोरोना संक्रमण के 43 नए मामले मिले हैं। IANS के अनुसार, वैश्विक स्तर पर कोरोना संक्रमितों की संख्या 24.33 करोड़ हो गई है, जबकि मृतकों का आंकड़ा 50 लाख के करीब पहुंच चुका है। जान हापकिंस यूनिवर्सिटी की तरफ से रविवार को जारी रिपोर्ट में बताया गया है कि दुनियाभर में 6.78 अरब टीके लगाए जा चुके हैं।

कोरोना से पार नहीं पा रहा अमेरिका

अबतक अमेरिका सबसे प्रभावित देश बना हुआ है, जहां संक्रमितों का आंकड़ा 4.54 करोड़ व मृतकों की संख्या 7.35 लाख पहुंच चुकी है। संक्रमितों (3.41 करोड़) के मामले में भारत दूसरे स्थान पर है। ब्राजील में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2.17 करोड़, ब्रिटेन में 87.75 लाख, रूस में 80.78 लाख, तुर्की में 78.26 लाख व फ्रांस में 72.21 लाख हो चुकी है। रायटर के अनुसार, पूर्वी यूरोप में रविवार को कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा दो करोड़ पार कर गया।

ब्रिटेन में डेल्टा प्लस का कहर

समाचार एजेंसी IANS की रिपोर्ट के मुताबिक ब्रिटेन में अब डेल्टा प्लस का कहर जारी है। ब्रिटेन में चंद दिनों में पचास हजार से अधिक मामले सामने आए हैं। विशेषज्ञों की मानें तो कोरोना का डेल्टा स्ट्रेन का सब-स्ट्रेन डेल्टा-प्लस (असली नाम एवाय-4.2) डेल्टा स्ट्रेन से भी घातक है। बताया जा रहा है कि इसके संक्रमण की क्षमता मुख्य डेल्टा वैरिएंट से 15 फीसदी अधिक है।

देखा जाए तो विश्व के कई देश इस वक्त कोरोना से जूझ रहे हैं। डॉक्टर्स, बुद्धिजीवी और वैज्ञानिक लगातार इसके लिए वैक्सीन सहित काट ढूंढने में लगे हैं, ताकि इसे पूर्ण रूप से खत्म किया जा सके।

Find Us on Facebook

Trending News