कोरोना वायरस : टीका नहीं लगने पर अलग बैठकर देनी होगी परीक्षा, की जा रही है तैयारी

कोरोना वायरस : टीका नहीं लगने पर अलग बैठकर देनी होगी परीक्षा, की जा रही है तैयारी

पटना. बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर टीकाकरण तेजी से हो रहा है. कोरोना को देखते हुए 3 जनवरी से 15 साल से 18 साल के किशोरों को भी टीका लगना शुरू हो गया है. वहीं फरवरी में 12 से 15 साल के बच्चों के लिए भी वैक्सीन शुरू होने की संभावना है. कोरोना की तीसरी लहर के दौर में बच्चों की परीक्षा भी शुरू हो रही है. कोरोना की दौर में परीक्षा को लेकर पटना जिला शिक्षा कार्यालय ने तैयारी शुरू कर दी है. बिना टीका वाले परीक्षार्थियों को अलग बैठा कर परीक्षा ली जायेगी.इसको लेकर 31 जनवरी को समीक्षा की जायेगी.

ज्ञात हो कि इंटरमीडिएट परीक्षा एक फरवरी से शुरू हो रही है. परीक्षा में पटना जिला से 78 हजार 961 परीक्षार्थी शामिल होंगे. ऐसे में बहुत से स्कूल में बच्चे के बीमार होने की शिकायत आ रही है. इससे छात्र स्कूल नहीं आ रहे हैं और टीका लेने से वंचित हो रहे हैं. यही स्थिति मैट्रिक परीक्षार्थी के साथ भी है. मैट्रिक में पटना जिला से 66 हजार 539 परीक्षार्थी शामिल होंगे. पटना जिला शिक्षा कार्यालय की मानें तो इंटर और मैट्रिक परीक्षार्थी में अभी तक 60 हजार को टीका लगाया जा सका है, जबकि मैट्रिक और इंटर मिलाकर कुल एक लाख 45 हजार पांच सौ परीक्षार्थी को टीका लगाया जायेगा.


कोरोना गाइडलाइन के अनुसार होगी परीक्षा

बोर्ड द्वारा सभी जिला शिक्षा कार्यालय के साथ परीक्षा केंद्रों को कोरोना गाइडलाइन जारी की गयी है. परीक्षा के पहले हर दिन केंद्र की सभी कक्षाओं को सेनेटाइज किया जायेगा. बेंच डेस्क की सफाई की जायेगी. इसके अलावा दो बेंच के बीच दो फीट की दूरी रखी जायेगी. जगह कम पड़ेगी तो प्रयोगशाला और पुस्तकालय में भी परीक्षा के लिए जगह बनायी जायेगी.

Find Us on Facebook

Trending News