बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • कोटा में नीट की तैयारी कर रही छात्रा ने की आत्महत्या की कोशिश, समय रहते पहुंच गई मां
  • कोटा में नीट की तैयारी कर रही छात्रा ने की आत्महत्या की कोशिश, समय रहते पहुंच गई मां

  • जमुई के टीआर नारायण हेरिटेज प्ले स्कूल में धूमधाम से मनाया गया पहला वार्षिकोत्सव, बच्चों ने दी एक से बढ़कर एक प्रस्तुति
  • जमुई के टीआर नारायण हेरिटेज प्ले स्कूल में धूमधाम से मनाया गया पहला वार्षिकोत्सव, बच्चों ने दी एक

  • परिवार से फ्लैट खाली कराने में गुंडों की सहायता लेना कंकड़बाग थाने को पड़ा भारी, दोषी पुलिसकर्मी अपने पॉकेट से देंगे पीड़ित को मुआवजा, हाईकोर्ट का निर्देश
  • परिवार से फ्लैट खाली कराने में गुंडों की सहायता लेना कंकड़बाग थाने को पड़ा भारी, दोषी पुलिसकर्मी अपने

  • सीएम नीतीश ने जल संसाधन विभाग के 1,094 योजनाओं का किया उद्घाटन एवं शिलान्यास, 3,420 करोड़ रुपये की आएगी लागत
  • सीएम नीतीश ने जल संसाधन विभाग के 1,094 योजनाओं का किया उद्घाटन एवं शिलान्यास, 3,420 करोड़ रुपये की

  • प्रधानमंत्री एक साथ देश भर में अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत 554 स्टेशनों के पुनर्विकास का करेंगे शिलान्यास, ECR के 23 स्टेशन भी शामिल
  • प्रधानमंत्री एक साथ देश भर में अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत 554 स्टेशनों के पुनर्विकास का करेंगे

  • समता के प्रवर्तक संत रविदास की 647 वीं जयंती पर पटना महावीर मन्दिर में कार्यक्रम
  • समता के प्रवर्तक संत रविदास की 647 वीं जयंती पर पटना महावीर मन्दिर में कार्यक्रम

  • सीएम नीतीश ने सिमरिया धाम स्थल पर सीढ़ी घाट और अन्य सौदर्यीकरण कार्य का किया लोकार्पण, 115 करोड़ रूपये आई है लागत
  • सीएम नीतीश ने सिमरिया धाम स्थल पर सीढ़ी घाट और अन्य सौदर्यीकरण कार्य का किया लोकार्पण, 115 करोड़

  • रजनीकांत की चोरी हुई स्कॉर्पियो को पुलिस ने 48 घंटे में खोजा, चार शातिर बदमाशों को किया गिरफ्तार
  • रजनीकांत की चोरी हुई स्कॉर्पियो को पुलिस ने 48 घंटे में खोजा, चार शातिर बदमाशों को किया गिरफ्तार

  • स्पीड पोस्ट के जरिए सरकारी स्कूल शिक्षक ने डॉक्टर से मांगी पांच लाख की रंगदारी, पूर्व में रेलवे को उड़ाने की दे चुका है धमकी
  • स्पीड पोस्ट के जरिए सरकारी स्कूल शिक्षक ने डॉक्टर से मांगी पांच लाख की रंगदारी, पूर्व में रेलवे

  • सीतामढ़ी में जिला जदयू की बैठक, एनडीए को बिहार के सभी 40 सीटों पर जीत दिलाने का लिए   " सेवन मैन बूथ कमिटी "का निर्माण का संकल्प
  • सीतामढ़ी में जिला जदयू की बैठक, एनडीए को बिहार के सभी 40 सीटों पर जीत दिलाने का लिए

भारतीय रेल के इस खर्च पर रोएं या हंसें ! एक चूहा को पकड़ने पर रेलवे का खर्चा है 41 हजार रुपए, RTI से हुआ खुलासा

भारतीय रेल के इस खर्च पर रोएं या हंसें ! एक चूहा को पकड़ने पर रेलवे का खर्चा है 41 हजार रुपए, RTI से हुआ खुलासा

DESK. एक चूहा पकड़ने के लिए कितने पैसे की आवश्यकता हो सकती है? यदि कोई कहे कि एक चूहा पकड़ने का कार्य 41 हजार रुपये में होता है तो चौंकना स्वाभाविक है. लेकिन ऐसा ही हुआ है. भारतीय रेलवे की ओर से एक चूहा पकड़ने पर किया गया खर्च 41 हजार हुए ही है. बाकायदा एक आरटीआई के जवाब में उत्तर रेलवे ने कहा है कि उत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल द्वारा प्रति चूहा पकड़ने पर करीब 41 हजार रुपए खर्च किए गए हैं. 

मध्य प्रदेश के नीमच के आरटीआई कार्यकर्ता चंद्रशेखर ने सवाल किया था कि उतर रेलवे को चूहा पकड़ने पर कितना खर्चा आता है. जवाब में बताया गया कि उत्तर रेलवे के लखनऊ डिवीजन ने 168 चूहों को पकड़ने के लिए वर्ष 2020 से 2022 के बीच 69.5 लाख रुपये खर्च किए. अगर गणित के हिसाब से देखें तो प्रति वर्ष चूहा पकड़ने पर 23.2 लाख रुपये की राशि खर्च हुई. अब अगर प्रति चूहे का हिसाब किया जाए तो प्रति चूहा पकड़ने पर 41 हजर रुपये से थोड़ा अधिक खर्च किया गया. ऐसे में अब जो कोई भी यह सुन रहा है वह हैरान है कि एक चूहा को पकड़ने पर 41 हजार से ज्यादा की राशि खर्च की जाती है. 

रेलवे में कीट और कृंतक नियंत्रण प्राथमिक रखरखाव के व्यय मद के अंतर्गत आता है. प्राथमिक रखरखाव मंडल के स्वामित्व वाली ट्रेनों पर किया जाता है. इसलिए अलग अलग रेल मंडलों में इस मद में भिन्न राशि खर्च होती है. उत्तर रेलवे के पाँच मंडल हैं: दिल्ली, अम्बाला, लखनऊ, फ़िरोज़पुर और मोरादाबाद. आरटीआई कार्यकर्ता की आरटीआई में उत्तर रेलवे से सभी मंडलों का व्यय का विवरण मांगा गया था लेकिन केवल लखनऊ ने ही जवाब दिया. लेकिन अब उनका जवाब सबको हैरान किए है कि रेलवे एक चूहा पकड़ने पर 41 हजार की राशि खर्च करती है. वहीं लखनऊ ने चूहों से रेलवे को हुए नुकसान पर कोई जवाब नहीं दिया है. 

आरटीआई जवाब के अनुसार, "मैसर्स सेंट्रल वेयरहाउसिंग कॉरपोरेशन, गोमती नगर, लखनऊ” को अनुबंध के आधार पर चूहे को फंसाने के लिए काम पर रखा गया है. यह अनुबंध 2019 से जारी है. अंबाला डिवीजन ने कहा कि अप्रैल 2020 और मार्च 2023 के बीच, उसने कीट नियंत्रण, कृंतक नियंत्रण और धूमन उपचार के लिए 39.3 लाख रुपये खर्च किए. लेकिन उसने यह नहीं बताया कि चूहा पकड़ने पर अलग से खर्च की जानकारी क्या है.  

वहीं दिल्ली डिविजन का जवाब और भी रूखा था. इसमें कहा गया है कि यात्री ट्रेनों में कीट और कृंतक नियंत्रण के लिए एक चालू अनुबंध है। कोई अन्य विवरण उपलब्ध नहीं कराया गया.