बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

LATEST NEWS

बिहार में एएसपी और पूर्व राज्यपाल के बीच बहस,"मैं अपने आवास पर किसी से नहीं मिलती"..सुनते ही कहा आपको सबसे मिलना होगा...वीडियो वायरल

बिहार में एएसपी और पूर्व राज्यपाल के बीच बहस,"मैं अपने आवास पर किसी से नहीं मिलती"..सुनते ही कहा आपको सबसे मिलना होगा...वीडियो वायरल

AURANGABAD : औरंगाबाद शहर में बढ़ती चोरी की घटनाओं की लगातार मिल रही शिकायत से परेशान दिल्ली के पुलिस महानिदेशक रहे पूर्व राज्यपाल व पूर्व सांसद की सोमवार को औरंगाबाद की सहायक पुलिस अधीक्षक(एएसपी) से मोबाइल पर बात नहीं हुई तो वें तमतमाते हुए अपने दानी बिगहा स्थित आवास से पैदल ही एएसपी आवास पहुंच गए। आवास पहुंचकर पूर्व राज्यपाल ने एएसपी स्वीटी सहरावत को मिलने के लिए उन्ही के मातहतो से जब संदेश भेजा तो वें प्रोटोकॉल भूल गई। 

कहवा दिया कि वे आवास पर नही मिलती। उन्हे ऑफिस में आने की सलाह दे दी। सलाह देते ही पूर्व राज्यपाल फॉर्म में आ गए और उन्होने एएसपी को पर्सनल लाइफ, पब्लिक लाइफ से लेकर फुल प्रोटोकॉल तक का पाठ पढ़ा दिया। उन्होने एएसपी की लगभग बोलती बंद कर दी। पूर्व डीजीपी व पूर्व राज्यपाल बोलते रहे और एएसपी सुनती रही। दरअसल पूर्व राज्यपाल जब भी औरंगाबाद आते है तो उनके आवास पर सुबह में हर दिन जनता दरबार लगता है। 

सोमवार की सुबह भी जनता दरबार में शहर में चोरी की बढ़ती घटनाओं को लेकर पूर्व राज्यपाल के समक्ष कई शिकायतें आई। शिकायतो के आशय साफ थे कि शहर में अपराध बढ़ गए है। पूर्व राज्यपाल शहर में बढ़ते अपराध से चिंतित हुए। उन्होने मामले में एक्शन के लिए एएसपी को कॉल लगाया। लेकिन कॉल पिक नही हुआ। कॉल पिक नही होने पर पूर्व राज्यपाल उठे और अपने आवास से कुछ ही दूरी पर स्थित एएसपी के आवास की ओर उनसे मिलने पैदल ही चल दिए। एएसपी आवास पर पूर्व राज्यपाल के पहुंचने पर ही यह सारा वाकया हुआ। इस दौरान पूर्व राज्यपाल ने एएसपी की जमकर खैर खबर ली। 

उन्होने एएसपी को शहर में क्राइम कंट्रोल करने का निर्देश दिया। चोरी की घटनाओं को रोकने के लिए सही तरीके से पुलिसिंग की सलाह दी। पूर्व राज्यपाल ने इतना तक क़ह डाला कि शहर में बढ़ते अपराध के बचाव में मुझे आपके एक्सप्लानेशन से मतलब नही है बल्कि मुझे रिजल्ट चाहिए। अपराध रुकने चाहिए। इस दौरान एएसपी प्रशिक्षु बनकर पूर्व राज्यपाल की सुनती रही और बीच बीच में पुलिस का पक्ष रखती रही।

औरंगाबाद से दीनानाथ मौआर की रिपोर्ट 



Suggested News