प्रमंडलीय आयुक्त ने छठ को लेकर अधिकारियों और पूजा समितियों के साथ की बैठक, दिए कई निर्देश

प्रमंडलीय आयुक्त ने छठ को लेकर अधिकारियों और पूजा समितियों के साथ की बैठक, दिए कई निर्देश

PATNA : प्रमंडलीय आयुक्त पटना संजय कुमार अग्रवाल ने छठ घाटों पर श्रद्धालु भक्तों एवं छठ व्रतियों के लिए सभी आवश्यक सुविधा सुनिश्चित कराने तथा बेहतर प्रबंधन एवं समन्वय हेतु अधिकारियों एवं पूजा समिति के प्रतिनिधियों के साथ समाहरणालय सभागार में बैठक की। इस मौके पर उन्होंने अधिकारीयों को आवश्यक निर्देश दिया। साथ ही पूजा समिति के प्रतिनिधियों की अपेक्षाएं तथा आवश्यक सुझाव/ समस्या एवं फीडबैक भी प्राप्त किया गया तथा उसका समाधान करने का निर्देश दिया गया।

बेहतर समन्वय एवं सहयोग का निर्देश

बैठक में आयुक्त ने छठ घाटों पर छठ व्रतियों के लिए बेहतर प्रबंधन हेतु पूजा समिति के प्रतिनिधियों जिला प्रशासन एवं नगर प्रशासन के बीच  बेहतर समन्वय एवं सहयोग बनाने तथा सक्रिय एवं तत्पर होकर ससमय कार्य पूरा करने का निर्देश दिया। उन्होंने पारस्परिक सहयोग एवं समन्वय हेतु आपस में बैठक करने तथा घाटवार स्थिति पर विचार कर कार्य में प्रगति लाने का निर्देश दिया। पूजा समिति को भी अपने सदस्यों के बीच ड्यूटी बांटने तथा जिला प्रशासन से समन्वय बनाने को कहा गया।

पूजा समिति से लिया गया आवश्यक सुझाव एवं फीडबैक

पूजा समिति ने घाटों से जुड़े संपर्क पथ को ठीक करने, दोषपूर्ण स्ट्रीट लाइट को ठीक करने, पार्किंग की व्यवस्था करने, अतिक्रमण हटाने, गोताखोर की तैनाती करने, मोबाइल टॉयलेट लगाने, सड़क पर बाईकर्स को नियंत्रित करने आदि के बारे में सुझाव दिए। साथ ही नदी के जलस्तर में लगातार कमी को देखते हुए नदी में बैरिकेडिंग अंतिम समय में करने का अनुरोध किया गया। आयुक्त ने जिलाधिकारी को पूजा समिति के सुझाव पर गंभीरता से विचार करने तथा हर संभव समाधान/ सहयोग करने का निर्देश दिया। उन्होंने  छठ व्रतियों एवं श्रद्धालु भक्तों के घाट तक आने जाने वाले संपर्क पथ का प्रतिनियुक्त अधिकारियों द्वारा पैदल निरीक्षण करने तथा आवश्यक कार्रवाई करने को कहा।

डीएम, एसएसपी को घाटों का निरीक्षण करने का निर्देश

आयुक्त ने डीएम ,एसएसपी को छठ घाटों का निरीक्षण करने तथा घाटों पर सभी आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। ताकि छठ व्रतियों को किसी प्रकार की असुविधा ना हो। यद्यपि घाटवार मजिस्ट्रेट की तैनाती कर दी गई है तथा उनके द्वारा कार्य की प्रभावी मॉनिटरिंग जारी है। इसी क्रम में आयुक्त ने पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल की भी प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया। ताकि घाट पर उपलब्ध सुविधा के साथ ही सुरक्षा का भी मजिस्ट्रेट एवं पुलिस पदाधिकारी का संयुक्त निरीक्षण हो सके। उन्होंने तालाब में जल की गहराई को देखते हुए बैरिकेडिंग करने का निर्देश दिया। ताकि अर्घ्य देने तथा स्नान करने के दौरान कोई श्रद्धालु  बैरिकेडिंग के पार नहीं जाए तथा डूबने की संभावना नहीं हो।

 खतरनाक घाटों की अनुमंडलवार सूची तैयार करने का निर्देश

आयुक्त ने डीएम को अनुमंडलवार खतरनाक घाटों को चिन्हित करने तथा सूची तैयार करने का निर्देश दिया। वैसे घाटों पर श्रद्धालु भक्तों के आवागमन पर रोक लगाने तथा अर्घ्य का प्रतिबंध लगाने को कहा। इस संबंध में घाटों पर साइनेज लगाने का निर्देश दिया। साथ ही इस आशय के संबंध में आम लोगों को  विभिन्न माध्यमों से प्रचारित करने एवं खतरनाक घाटों पर नहीं जाने तथा अर्घ्य नहीं देने संबंधी जानकारी देने को कहा। छठ व्रतियों के आवागमन को सुचारू बनाने तथा वाहनों का सहज परिचालन हेतु ट्रैफिक प्लान बनाने/ पार्किंग की व्यवस्था करने का निर्देश दिया। आयुक्त ने छठ पर्व के अवसर पर व्रतियों एवं श्रद्धालु भक्तों के आवागमन एवं वाहनों के सहज , सुगम, सुचारू  परिचालन हेतु ट्रैफिक प्लान बनाने तथा स्थानीय स्तर पर प्रचारित कर अनुपालन सुनिश्चित कराने का निर्देश एसपी ट्रैफिक को दिया। वहीँ उन्होंने छठ व्रतियों एवं श्रद्धालु भक्तों के लिए घाटों पर प्रकाश ,पेयजल, अस्थाई शौचालय चेंजिंग रूम,वाच टावर, पीए सिस्टम आदि की व्यवस्था समय से पूर्व करने का निर्देश दिया है। 

नियंत्रण कक्ष से होगी सतत एवं प्रभावी मॉनिटरिंग

जिला एवं अनुमंडल स्तर पर नियंत्रण कक्ष स्थापित करने तथा नंबर को जनहित में सार्वजनिक करने का निर्देश दिया। नियंत्रण कक्ष के माध्यम से छठ पर्व के शांतिपूर्ण आयोजन तथा विधि व्यवस्था संधारण की लगातार मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया।

घाटों पर आतिशबाजी करने पर रहेगी रोक

घाटों पर विशेषकर युवा वर्ग द्वारा आतिशबाजी की जाती है। जिसके कारण छठ व्रतियों एवं श्रद्धालु भक्तों को कठिनाई होती है तथा अप्रिय घटना होने की संभावना रहती है। इसलिए घाटों पर आतिशबाजी नहीं हो, इसका अनुपालन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया।

गंगा नदी के जल स्तर की निगरानी करने निर्देश

गंगा नदी के जल स्तर की कड़ी निगरानी और सावधानी बरतने का निर्देश दिया गया है। जल स्तर की प्रतिदिन निगरानी की जाए तथा उसी के हिसाब से बैरिकेडिंग एवं सुरक्षा तंत्र की व्यवस्था की जाए। घाट पर कोविड मानक का पालन कराने हेतु मास्क / सैनिटाइजर का अनिवार्य प्रयोग करने का निर्देश दिया। कोविड का खतरा अभी समाप्त नहीं हुआ है इसलिए लोगों को अपनी सुरक्षा के लिए सतर्क एवं सजग रहना है। घाटों पर अधिक भीड़ भाड़ नहीं लगाया जाए। पर्व त्यौहार को देखते हुए बाहर से काफी संख्या में लोग अपने घर बिहार आ रहे हैं। उनका कोविड टेस्ट एवं टीकाकरण की प्रभावी मॉनिटरिंग करने का निर्देश दिया गया।

बैठक में जिलाधिकारी पटना डॉ चंद्रशेखर सिंह, वरीय पुलिस अधीक्षक उपेंद्र कुमार शर्मा नगर आयुक्त पटना हिमांशु शर्मा ,उप विकास आयुक्त रिची पांडे, पुलिस अधीक्षक ट्रैफिक डी अमरकेश, अपर समाहर्ता राजस्व राजीव श्रीवास्तव, अपर समाहर्ता आपदा संतोष कुमार झा सहित कई अन्य अधिकारी एवं पूजा समिति के प्रतिनिधिगण मौजूद थे।

Find Us on Facebook

Trending News