दुष्कर्म के आरोपी ने सुप्रीमकोर्ट में कहा-मैंने पीड़िता से समझौता कर लिया है बेल दे दीजिये फिर कोर्ट ने कहा.......

दुष्कर्म के आरोपी ने सुप्रीमकोर्ट में कहा-मैंने पीड़िता से समझौता कर लिया है बेल दे दीजिये फिर कोर्ट ने कहा.......

डेस्क... दुष्कर्म के आरोपी ने कोर्ट में कहा हुजूर बेल दे दीजिए पीड़िता के साथ मेरा समझौता हो गया है ।6 महीने के भीतर ही शादी कर लूंगा। इस पर चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने कहा की गिरफ्तारी रोक रहे तुम्हारे पास 6 माह का वक्त है। सुप्रीम कोर्ट ने आरोपी की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है साथ ही यह भी कहा है की 6 माह के भीतर अगर शादी नहीं की तो जेल भेज दिया जाएगा।

क्या है मामला?

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने दुहकर्म के आरोपी पंजाब के एक युवक की गिरफ्तारी पर रोक लगा दिया है।  आरोपी युवक ने अपनी जमानत के लिए दाखिल याचिका में कहा कि उसका पीड़िता से समझौता हो गया है वह उससे 6 महीने के भीतर शादी करने जा रहा है आरोपी ने समझौते की प्रति भी कोर्ट में पेश किया है साथ ही उसने समझौते के बाद अपने जमानत की भी मांग की इस पर सीजेआई एस ए बोबडे की बेंच ने निर्देश देते हुए कहा है कि पीड़िता से शादी करने के बाद करने पर ही तुम्हें जमानत मिलेगी अभी सिर्फ गिरफ्तारी रोक रहे हैं। साथ ही सीजेआई ने पीड़िता से भी जवाब मांगा है। मामले की अगली सुनवाई 12 मार्च को होगी। जानकारी के मुताबिक पंजाब का रहने वाला युवक फिलहाल ऑस्ट्रेलिया में रह रहा है। इसकी जमानत याचिका हाईकोर्ट पंजाब ने खारिज कर दिया है।

ऑस्ट्रेलिया में रहने के दौरान हुआ था जट सिख का अनुसूचित जाति के युवती से प्रेम

गौरतलब है कि मूल रूप से पंजाब के गुरदासपुर का रहने वाला सवर्ण श्रेणी में शामिल जट सिख लड़के का 2016 में ऑस्ट्रेलिया में पढ़ाई के दौरान अनुसूचित जाति की युवती सुप्रीम हो गया। इसके बाद 2018-19 के बीच युवक ने शादी का झांसा देकर युवती से शारीरिक संबंध बनाए। इसके बाद  युवक ने शादी से इनकार करते हुए कहा कि हमारे माता-पिता विवाह के लिए राजी नहीं है ।इसमें जाति आड़े आ रही है।

Find Us on Facebook

Trending News