कांग्रेस आलाकमान का सख्त फरमान, अलॉट किये गए जिले में नेता जाएं, जो नहीं जाएंगे उन्हें मेंबर रहने का अधिकार नहीं

 कांग्रेस आलाकमान का सख्त फरमान, अलॉट किये गए जिले में नेता जाएं, जो नहीं जाएंगे उन्हें मेंबर रहने का अधिकार नहीं

पटना : कोरोना काल में विधानसभा चुनाव तैयारियों के बीच अब कांग्रेस ने भी सियासी हलचल तेज कर दी है. शनिवार को पटना पहुंचे राज्यसभा सांसद और कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने चुनाव तैयारियों को लेकर टास्क दिया है.

दरअसल भारत छोड़ो आंदोलन की 78 वी वर्षगांठ पर बिहार कांग्रेस के नेता सप्तमूर्ति पर अमर शहीद जवानों को सलामी देने पहुंचे थे. इस दौरान बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने साफ किया है कि कांग्रेस अब पूरी तरह से चुनावी मोड में है. विधानसभा चुनाव में बेहतर प्रदर्शन के लिए आलाकमान ने बकायदा कांग्रेसी नेताओं को टास्क भी दिया है. कांग्रेस इस बार नेताओं को जिला अलॉट किया है जहां जाकर वहां कांग्रेस के पक्ष में हवा बनानी है. इसके साथ ही सख्त लहजे में कहा गया है कि अलॉट किये गए जिले में नेता जाएं, जो नहीं जाएंगे उन्हें मेंबर रहने का अधिकार नहीं।गोहिल ने कहा कि हमारे कई नेताओं ने जिलों का कर लिया है,कई जाने वाले हैं।उन्होंने साफ-साफ कह दिया कि जो नेता अलॉट किए गए जिले में नहीं जायेंगे उन्हें कांग्रेस कोर टीम का मेंबर रहने का अधिकार नहीं।

इसके साथ ही शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि बिहार विधानसभा चुनाव में पूरे दमखम के साथ उतरने के लिए कांग्रेस पार्टी तैयार है . कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल बिहार दौरे पर हैं और यहां प्रदेश अध्यक्ष के साथ बैठक कर रहे आगे की  चुनावी नीतियों पर चर्चा कर रहे हैं. शक्ति सिंह गोहिल ने कहा है कि जिला अध्यक्ष से बात करके उनकी चुनावी तैयारी जानने की कोशिश कर रहे हैंं साथ ही संगठन को मजबूत कर करने की कोशिश की जा रही है.

Find Us on Facebook

Trending News