झारखंड और छत्तीसगढ़ में 22 ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय की छापेमारी, करोड़ों रुपए नकद और सोना-चांदी बरामद

झारखंड और छत्तीसगढ़ में 22 ठिकानों पर प्रवर्तन निदेशालय की छापेमारी, करोड़ों रुपए नकद और सोना-चांदी बरामद

DESK. फॉरेन ओरिजन गोल्ड स्मगलिंग सिंडिकेट अवैध रूप से संचालित होने की शिकायत के बाद प्रवर्तन निदेशालय ने झारखंड और छत्तीसगढ़ में 22 ठिकानों पर छापेमारी की। इस दौरान ईडी को 1.41 करोड़ रुपए नकद और 16.655 किलो सोना और 671.77 किलो चांदी मिले हैं। ईडी ने झारखंड और छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर समेत अन्य जगहों पर बीते पांच और छह अगस्त को छापेमारी की थी। 

ईडी ने राजनांदगांव के मोहनी ज्वेलर्स, दुर्ग के नवकार ज्वेलर्स और रायपुर के सुमित ज्वेलर्स के ठिकानों समेत इनके सहयोगी संस्थानों पर छापेमारी की। 10 अगस्त देर शाम ईडी ने ट्वीट कर इस कार्रवाई की पूरी जानकारी दी।

ईडी की दोनों राज्यों में हुई यह कार्रवाई पीएमएलए  और फेमा एक्ट (Foreign Exchange Management Act) के तहत हुई है। जानकारी के मुताबिक ज्वेलर्स मोहनी और नवकार ज्वेलर्स के ठिकानों से गोल्ड ओरिजन स्मगलिंग सिंडिकेट संचलित होने के पुख्ता प्रमाण मिले थे। इसके बाद ईडी ने कार्रवाई की। ईडी के जांच में खुलासा हुआ है कि ये ग्रुप म्यांमार, बांग्लादेश भूटान होते हुए कलकत्ता के रास्ते स्मगलिंग के जरिये गोल्ड मंगाता था।


बताया जा रहा है कि मई 2021 में डीआरआई ने राजनांदगांव में मोहनी ज्वेलर्स के मालिक जसराज शांतिलाल बैद और दुर्ग के नवकार ज्वेलर्स के मालिक प्रकाश सांखला के ठिकानों पर दबिश दी थी। जिसमें 42 करोड़ रुपए की 4.5 टन चांदी और 4.65 किलो सोने के बिस्किट, स्मगलिंग किए गए गोल्ड की बिक्री से मिले 32 लाख 35 हजार रुपये भी बरामद किए थे।


Find Us on Facebook

Trending News