नीतीश के चड्डी बनियान वाले विधायक का हर बार हो जाता है पेट खराब, इससे पहले भी कर चुके हैं इस तरह का बहाना

नीतीश के चड्डी बनियान वाले विधायक का हर बार हो जाता है पेट खराब, इससे पहले भी कर चुके हैं इस तरह का बहाना

PATNA : सीएम नीतीश कुमार के चड्डी बनियान वाले विधायक गोपाल मंडल अपनी हरकतों को लेकर इस बार पूरे भारत में चर्चा का विषय बन गए हैं। जिसको लेकर अब सीएम नीतीश कुमार की जमकर किरकिरी हो रही है और उनपर  अपने लाडले विधायक के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की जा रही है। विपक्ष का कहना है कि सीएम नीतीश के विधायक ने अपनी हरकत से पूरे बिहार को कलंकित कर दिया है। वहीं विवाद बढ़ने के बाद अब गोपाल मंडल ने अपनी सफाई में कहा है कि उनका पेट खराब था, इसलिए कपड़े उतारकर वह टॉयलेट जा रहे थे। 

हालांकि जदयू विधायक के पेट खराब होने की यह पहली घटना नहीं है। इससे पहले भी जब भी किसी विवाद में वह फंसने लगते हैं तो उनका पेट खराब हो जाता है। गोपाल मंडल का पेट अक्सर खराब रहता है। इस साल यह दूसरी बार है जब उन्होंने किसी विवाद से बचने के लिए पेट खराब होने का बहाना बनाया है। इससे पहले भी कोरोना प्रोटोकॉल के उल्लंघन करने के मामले में हुए विवाद के बाद पेट खराब होने और लैट्रीन लगे होने की बात कर चुके हैं।

तोड़ दिया था बेरिकेंडिंग

तेजस राजधानी एक्सप्रेस विवाद में पेट खराब होने से पहले गोपालपुर विधायक का पेट खराब इस साल 4-5मई के दरम्यान हुआ था। उस समय नवगछिया स्टेशन के पास लगे बैरिकेडिंग को जबरन तोड़ दिया था। जिला प्रशासन ने आखिर बैरिकेड ही क्यों लगाया गया, बैरियर लगा सकती थी। वहां एक पुलिसकर्मी की तैनाती की जा सकती थी। जिसे जरूरत होती, उसे जाने देते, जिसे नहीं होती, उसे रोक देते। मैं विधायक हूं और अपने क्षेत्र में निकलने के लिए मुझे इधर-उधर घूमना पड़ा, इसलिए मैंने बैरिकेडिंग तोड़ा। बाद में जब विवाद बढ़ गया और जिला प्रशासन ने उनके ऊपर कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए तो सफाई देने के लिए वह मीडिया के सामने आ गए। जहां उन्होंने बैरिकेडिंग तोड़ने का कारण लैट्रीन लगा होना बताया था। उन्होंने कहा था जोर का लैट्रीन लगा था और बेरिकेड के कारण जाने में परेशानी हो रही थी, इसलिए बेरिकेड को तोड़ दिया।

Find Us on Facebook

Trending News