बिक्रम में ट्रॉमा सेंटर को लेकर अनशन जारी, दूसरे दिन बिगड़ी अनशनकारी की तबियत, कहा- स्थानीय का मिल रहा है भारी समर्थन

बिक्रम में ट्रॉमा सेंटर को लेकर अनशन जारी, दूसरे दिन बिगड़ी अनशनकारी की तबियत, कहा- स्थानीय का मिल रहा है भारी समर्थन

पटना. बिक्रम में दो दशक पूर्व करोड़ों रुपए के लागत से बने ट्रॉमा सेंटर को चालू करवाने को लेकर हो रहे अनशन के बीच आज दूसरे दिन अनशनकारी दीपक कुमार की तबीयत थोड़ी बिगड़ गयी है. इस बीच प्रदर्शन कारियों ने कहा कि उन्हें स्थानीय लोगों का जबरदस्त समर्थन मिल रहा है. प्रदर्शनकारियों ने कहा कि यहा स्वस्थ सेवा का बुराहाल है. साथ ही कहा कि सरकार की गलत नीतियों की वजह से ये ट्रॉमा सेंटर बंद है.

प्रदर्शनकारियों ने कहा कि दो दशक पूर्व इस ट्रॉमा सेंटर को करोड़ों रुपये खर्च कर बनाया गया था, ताकि स्थानीय लोगों को अपात स्थिति में स्वास्थ्य सेवा मिल सके. आज अपने आशीर्वाद यात्रा के क्रम में लोजपा अध्यक्ष सह सांसद चिराग पासवान भी वहां पहुंचे और बिक्रम ट्रामा सेंटर खोलने के लिए सरकार से मांग की. चिराग पासवान ने अपने संबोधन में कहा की नीतीश कुमार को बिक्रम के जनता के सामने झुकना पड़ेगा.

वहीं आंदोलनकारीयों को समर्थन देने पहुंचे स्थानीय नेता मंटु शर्मा ने कहा कि सरकार के गलत नीतियों की वजह से न सिर्फ करोड़ों रुपये बर्बाद हुए हैं, बल्कि लोगों को स्वास्थ सेवाओं से भी वंचित कर दिया गया है. आज की तारीख में पूरे बिहार में शिक्षा और स्वास्थ्य की स्थिति बहुत ही बुरे हालत में है. आंदोलन के 36 घंटे के बाद भी सरकार के तरफ केवल सीओ आया है.

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि अभी तक कोई सांसद या विधायक ने कोई बात नहीं की है. स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंचे चिकित्सक अमित कुमार ने अनशनकारी दीपक कुमार का स्वास्थ चेक किया है. इसके बाद उन्हें गुल्कोज चढ़ाया गया है. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने कहा कि यहां सास्थ्य सेवा का बुराहाल है. यहां कोई डॉक्टर नहीं है. जिससे काफी परेशानी हो रही है.

Find Us on Facebook

Trending News