चुनावी रंजिश में हुई मारपीट, इलाज के दौरान जिला परिषद उम्मीदवार की मौत

चुनावी रंजिश में हुई मारपीट, इलाज के दौरान जिला परिषद उम्मीदवार की मौत

नवादा : चुनावी रंजिश में हुई मारपीट में घायल सुनील केवट की मौत हो गई। इस बीच, जनता दल यूनाइटेड के पूर्व विधायक कौशल यादव ने गोविंदपुर थाना क्षेत्र के डुमरी गांव पहुंचकर परिवार वालों से मुलाकात की है. उन्होंने कहा है कि जो लोग इस मामले में सम्मिलित हैं उन लोगों पर पुलिस त्वरित कार्रवाई करे नहीं तो सीएम नीतीश कुमार से मुलाकात कर इन अधिकारियों के विरुद्ध भी शिकायत करेंगे। वहीं पूर्व विधायक कौशल यादव ने आर्थिक मदद के तौर पर परिवार को ₹25000 भी दिए हैं उन्होंने आश्वासन दिया है कि जो लोग इस मामले में आरोपित हैं उन लोगों के विरुद्ध सुनिश्चित कार्रवाई होगी. अगर इस मामले में पुलिस के द्वारा थोड़ी सी भी लापरवाही दिखाई दी तो सीएम नीतीश कुमार से मुलाकात कर इंसाफ जरुर दिलाएंगे। 

जानिए क्या कुछ है मामला 

पंचायत चुनाव में रोह पश्चिमी सीट से जिला परिषद के उम्मीदवार थे और गोविंदपुर थाना क्षेत्र के डुमरी गांव के रहने वाले थे। घटना के बाबत मृतक के भतीजा बंटी कुमार ने नवनिर्वाचित जिला पार्षद विद्या भूषण केवट समेत दस लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। 

22 दिसंबर को सुनील अपने घर में थे। तभी कुछ लोग घर में घुस गए और उन्हें पीटने लगे। मारपीट करने वाले लोगों का कहना था कि चुनाव लड़ने से मना करने के बाद भी उम्मीदवार क्यों बने। बचाव करने पर उनके परिवार के अन्य सदस्यों मनीषा कुमारी, बबीता देवी, आरती कुमारी, शीला देवी, आकाश कुमार के साथ भी मारपीट की गई थी। मारपीट में सुनील गम्भीर रूप से जख्मी हो गए थे। तबसे उनका इलाज पटना में चल रहा था। गुरुवार की देर रात उनकी मौत हो गई.


Find Us on Facebook

Trending News