पहले किया यादवों का अपमान अब वोट के लिए भाजपा का यदुवंशी सम्मेलन ... अखिलेश का दावा- यादवों के नेता सिर्फ लालू

पहले किया यादवों का अपमान अब वोट के लिए भाजपा का यदुवंशी सम्मेलन ... अखिलेश का दावा- यादवों के नेता सिर्फ लालू

पटना. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बिहार आते हैं तो यादवों का अपमान करते हैं. खुले तौर पर कहते हैं कि हमें यादव वोटों की जरूरत नहीं है. वहीं अब भाजपा द्वारा यदुवंशी समागम का आयोजन किया गया है. यह भाजपा के दोहरे मानदंड को दर्शाता है. बीजेपी के यदुवंशी सम्मेलन पर बुधवार को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह ने कटाक्ष किया. उन्होंने कहा कि कुछ दिन पहले ही अमित शाह मुजफ्फरपुर में आए थे तो उस दिन कहा था कि हमको यादवों के वोट की जरूरत नहीं है. ऐसे में अब तुरंत यदुवंशी सम्मेलन का क्या मतलब रह जाता है. यह भारतीय जनता पार्टी का बिहार के यादवों का अपमान करना है. बीजेपी उनका मजाक उड़ा रही है. 

अखिलेश सिंह ने कहा कि राजद सुप्रीमो लालू यादव सही कह रहे हैं कि यादव एक है. यादव टूटने वाला नहीं है. उन्होंने कहा कि यादवों पर कितना प्रयोग हो चुका है लेकिन यही सच है कि यादव एक है और लालू जी साथ रहा ही है. यादव महागठबंधन के साथ रहेगा. उन्होंने कहा कि अब यादव वोटरों पर बीजेपी की नजर पड़ी है. लेकिन, यादवों को लेकर भाजपा जो मुंगेरी लाल का हसीन सपना देख रही है, वह पूरा नहीं होगा. 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के बीच विधानसभा में हुई तकरार के बाद नीतीश को दलित विरोधी बताए जाने का उन्होंने विरोध किया. अखिलेश ने कहा कि नीतीश कुमार ने दलित और महादलित के लिए कितना काम किया है. नीतीश कुमार ने ही दलित वर्ग के मांझी को सीएम बनाया था. इसलिए इस पर दलित विरोध करने की राजनीति नहीं करनी चाहिए. वहीं देश के पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों पर अखिलेश ने कहा कि पांचो राज्यों में कांग्रेस की सरकार बन रही है. 3 दिसंबर का इंतजार करिए. 




Find Us on Facebook

Trending News