पटना के अटल पथ पर तेजस्वी यादव के भाई पर बदमाशों ने चलाई गोलियां, मुश्किल से बची जान

पटना के अटल पथ पर तेजस्वी यादव के भाई पर बदमाशों ने चलाई गोलियां, मुश्किल से बची जान

PATNA : पटना में अटल पथ न सिर्फ तेज रफ्तार गाड़ी चलानेवालों के लिए बेहतर विकल्प बन गया है, बल्कि अपराधियों के लिए यह बेहद मुफीद बन गया है। कुछ दिन पहले अटल पथ के करीब मुखिया पति की हत्या हुई थी। अब अटल पथ पर पूर्व सांसद के बेटे की गाड़ी पर कुछ बदमाशों द्वारा अंधाधुंध फायरिंग की घटना सामने आई है। बताया जा रहा है कि एसके पुरी थाना क्षेत्र में अटल पथ में कार सवार बदमाशों ने तेजस्वी यादव के मामा व पूर्व सांसद सुभाष यादव के बेटे रंधीर कुमार यादव पर अंधाधुंध फायरिंग की, जिसमें वे बाल-बाल बच गए। लेकिन फायरिंग से रंधीर की कार का शीशा चकनाचूर हो गया। वे किसी तरह वाहन लेकर थाने पहुंचे और घटना की जानकारी दी। 

वारदात 31 अक्टूबर की देर शाम हुई है। रंधीर गोला रोड स्थित एक निजी स्कूल का संचालन करते हैं। वे हाल में एक राजनीतिक दल से भी जुड़े हैं। सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची, मगर आरोपित फरार हो चुके थे। सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं। थानाध्यक्ष धीरज कुमार ने बताया कि आरोपितों का पता लगाया जा रहा है। वे इस मामले के जांचकर्ता हैं।

एएन कॉलेज के पास बरसाने लगे गोलियां

रंधीर के मुताबिक, वे चालक इंद्रजीत के साथ जेपी गंगा पथ से गुजर रहे थे। रोटरी गोलंबर के समीप एक तेज रफ्तार कार उनकी गाड़ी से टकराते-टकराते बच गई। इसके बाद उन्होंने चालक को गाड़ी रोकने को कहा और कुछ देर तक वहीं रुक गए। इसके बाद अटल पथ से घर जाने के लिए आगे बढ़े तो उसी कार ने उनकी गाड़ी को ओवरटेक किया और फिर रफ्तार धीमी कर पीछे हो गई। जैसे ही उनकी गाड़ी एएन कालेज के पीछे सर्विस लेन पर चढ़ी कि उस कार में सवार बदमाश गोलियां बरसाने लगे। उनकी गाड़ी का पिछला शीशा क्षतिग्रस्त होने के बाद भी आरोपितों ने चार-पांच राउंड फायरिंग की।

ससुराल से लौटने के दौरान हुई घटना

रंधीर एयरपोर्ट थाना क्षेत्र की विधायक कालोनी में रहते हैं। वे वैशाली जिले के महुआ स्थित ससुराल से लौटकर घर जा रहे थे। तभी वारदात हुई। प्रथमदृष्टया पुलिस घटना के पीछे का कारण रोडरेज मान रही है। इसके अलावा भी अन्य बिंदुओं पर छानबीन की जा रही है। जेपी गंगा पथ के रोटरी गोलंबर से अटल पथ में एएन कालेज के पीछे तक का फुटेज निकाला गया है। घटना के समय इलाका का डंप डाटा भी खंगाला जा रहा है, ताकि संदिग्ध मोबाइल नंबरों के माध्यम से आरोपितों के ठिकानों तक पहुंचा जा सके।


Find Us on Facebook

Trending News