पटना में फ्लिपकार्ट से धोखाधड़ी का खुलासा : EOU ने तीन नया iPhone व डम्मियों के साथ आरोपी को किया गिरफ्तार, ऐसे डिलीवरी बॉय को देता था झांसा

पटना में फ्लिपकार्ट से धोखाधड़ी का खुलासा : EOU ने तीन नया iPhone व डम्मियों के साथ आरोपी को किया गिरफ्तार, ऐसे डिलीवरी बॉय को देता था झांसा

पटना. ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी फ्लिपकार्ट से धोखाधड़ी कर महंगे सामान हड़पने वाले बदमाश को आर्थिक अपराध ईकाई की टीम ने रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान गांधी मैदान में रहने वाले धीरज कुमार गुप्ता के रूप में हुई है। ईओयू टीम आरोपी को गिरफ्तार करते हुए उसके घर से तीन नया आई-फोन, एक नया डमी आई-फोन, एक नया शाओमी, 6 डमी आई फोन का डिब्बा समेत एक अन्य मोबाइल सेट जब्त किया है।

जानकारी के अनुसार फ्लिपकार्ट के सिक्योरिटी मैनेजर रंजन कुमार ने आर्थिक अपराध इकाई से शिकायत की थी कि कोई व्यक्ति भिन्न-भिन्न नम्बरों से APPLE iPhone ऑर्डर किया था। फ्लिपकार्ट के द्वारा डिलीवरी के लिये भेजा गया। उसने ओरिजनल APPLE IPhone रखकर उसके स्थान पर डमी APPLE iPhone सेट लौटाकर ऑर्डर को रद्द कर दिया। उसने फ्लिपकार्ट के साथ धोखाधड़ी कर आर्थिक क्षति पहुंचाया है।

इस शिकायत के सत्यापन एवं आवश्यक कार्रवाई के लिए आर्थिक अपराध इकाई ने एक विशेष टीम की गठन किया। ईओयू की टीम ने मामले का खुलासा करते हुए आरोपी के उसके घर से ओरिजनल मोबाइल के साथ गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान धीरज कुमार गुप्ता, पिता महावीर लाल गुप्ता, पता ट्वीन टॉवर, फ्लैट नं0-501 WT, थाना गांधी मैदान पटना की रूप में हुई है। वह योजनाबद्ध तरीके से ऑडर कर धोखाधड़ी की घटना को अंजाम देता था। 19 जुलाई को भी आरोपी द्वारा ऑर्डर किया गया आई-फोन की डिलीवरी होनी थी। इसी दौरान ईओयू की टीम ने उसे अपने गिरफ्त में लिया।

आरोपी के घर से  ये भी हुआ बरामाद

  • तीन नया आई-फोन 
  • एक नया डमी आई-फोन
  • एक नया शाओमी
  • 6 डमी आई फोन का डिब्बा
  • एक अन्य मोबाइल सेट

ऐसे करता था धोखाधड़ी

आर्थिक अपराध ईकाई की जांच एवं छानबीन में यह पता चला कि कि धीरज कुमार गुप्ता के द्वारा भिन्न मोबाइल नम्बरों से फ्लिपकार्ट से आई-फोन ऑर्डर किया जाता था। डिलीवरी के दिन डिलीवरी बॉय के फोन करने के बाद यह किसी स्थान पर पहुंच कर समान को प्राप्त करता था। सामान लेने के समय उसके पास एक बैग होता था और वह काफी जल्दबाजी में होता था। डिलियरी बॉय से आई-फोन लेने के बाद वह अपने बैग में रख लेता था। डिलीवरी बॉय के मांगने पर वह शातिर व्यक्ति धोखे से बैंग में पहले से रखे सील डमी सेट का डिब्बा डिलीवरी बॉय को दे देता है। जब डिब्बा खोल कर डिलीवरी बॉय आई फोन उस व्यक्ति को दिखाता है तो वह व्यक्ति कुछ खामी निकालकर लेने से इंकार कर देता है। बताया जा रहा है कि फ्लिपकार्ट का नियम है कि महंगा सामान को डिलीवरी करने वक्त डिलीवरी बॉय को डिब्बा खोल कर सामान को दिखाना होता है।  

Find Us on Facebook

Trending News