गया डीएम ने पितृपक्ष मेला को लेकर रामशिला एवं प्रेतशिला वेदी का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए कई निर्देश

गया डीएम ने पितृपक्ष मेला को लेकर रामशिला एवं प्रेतशिला वेदी का किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए कई निर्देश

GAYA : जिला पदाधिकारी, गया डॉ० त्यागराजन एसएम द्वारा पितृपक्ष मेला 2022 के सफल आयोजन हेतु की जा रही तैयारी को लेकर रामशिला एवं प्रेतशिला वेदी स्थल का निरीक्षण किया गया। इस वर्ष पितृपक्ष मेला का आयोजन 09 सितंबर से 25 सितंबर तक निर्धारित है। उक्त पितृपक्ष मेला के सफल आयोजन के लिए सभी आवश्यक कार्य निर्धारित समय सीमा के अंदर पूर्ण कर लेने का निर्देश डीएम डॉ त्याग राजन ने दिया है।


गया जिले के रामशिला वेदी के निरीक्षण के दौरान उन्होंने सरोवर के गंदे पानी को देखते हुए नगर निगम को निर्देश दिया की तालाब के गंदगी को जाल के माध्यम से छांनते हुए साफ करवाएं। साथ ही उन्होंने कार्यपालक अभियंता पीएचईडी को सरोवर के ड्रेनेज सिस्टम को दुरुस्त करने का निर्देश दिया ताकि गंदे पानी आसानी से निकल सके। उन्होंने कहा कि बोरिंग के माध्यम से शुद्ध पानी तालाब में डालने का कार्य करें। श्रद्धालुओं को असुविधा के लिए सरोवर के चारों ओर लोहे की रेलिंग को मरम्मत करा दें ताकि किसी प्रकार का कोई हताहत ना हो। उन्होंने जिला आपदा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि रामशिला सरोवर में नाव सहित एसडीआरएफ की टीम प्रतिनियुक्त रहे।

निरीक्षण के दौरान नगर आयुक्त गया नगर निगम द्वारा बताया गया कि मेला क्षेत्र के कुल 8 तालाब ऐसे हैं जहां पिंडदान तर्पण हेतु अधिक संख्या में आते हैं। उन सभी तालाबों में एसडीआरएफ टीम तथा पर्याप्त संख्या में गोताखोर की प्रतिनियुक्ति रखी जा रही है। सभी तालाब के चारों ओर बैरिकेडिंग करने का भी कार्य किया जा रहा है। रामशिला वेदी चढ़ने वाले चिड़ियों के समीप टूटे-फूटे टाइल्स तथा नाले के ढक्कन को मरम्मत करवाने हेतु निर्देश दिए गए। साथ ही पेयजल हेतु प्याऊ तथा पर्याप्त संख्या में शौचालय निर्माण तेजी से करवाने हेतु निर्देश दिए।

प्रेतशिला निरीक्षण के दौरान स्थानीय पुरोहित द्वारा बताया गया कि प्रेतशिला में पानी की अत्यधिक समस्या है। जिसे ध्यान में रखते हुए पीएचईडी विभाग द्वारा किसान कॉलेज में बोरिंग का कार्य पूर्ण किया गया है। कार्यपालक अभियंता पीएचईडी ने बताया कि प्रेतशिला में पूर्व में 11 टॉयलेट बनाए गए हैं। इसके साथ ही 10 अतिरिक्त टॉयलेट का निर्माण कराया जा रहा है। साथ ही स्नानागार के चारों ओर अस्थाई घेरा देने का कार्य किया जा रहा है। 

जिला पदाधिकारी ने अनुमंडल पदाधिकारी सदर को निर्देश दिया कि प्रेतशिला वेदी के समीप यदि कहीं रास्ता अतिक्रमण है तो उसे अतिक्रमण वाद चलाते हुए अतिक्रमण मुक्त करावे। उन्होंने नगर आयुक्त को निर्देश दिया कि रामशिला, प्रेतशिला तथा अन्य महत्वपूर्ण वेदियों के समीप रोशनी की मुकम्मल व्यवस्था रखें। निरीक्षण के पश्चात जिला पदाधिकारी ने जिला आपदा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि इस वर्ष पितृपक्ष मेला अवधि तीर्थ यात्रियों संख्या बढ़ने की संभावना को देखते हुए अतिरिक्त एसडीआरएफ की टीम को प्रतिनियुक्ति हेतु विभाग को पत्र प्रेषित करें। कार्यपालक अभियंता मोड़ को एवं कार्यपालक अभियंता आरसीटी को निर्देश दिया कि मुहर्रम पर्व एवं पितृपक्ष मेला को ध्यान में रखते हुए कांटे के सड़कों को रिस्टोर करते हुए तेजी से सड़क निर्माण कार्य करवाएं ताकि तीर्थ यात्रियों को किसी प्रकार की परेशानी ना हो। उन्होंने कहा कि अधिकांश यात्री पैदल ही मेला क्षेत्र घूमते हैं इसे ध्यान में रखते हुए तेजी से रिस्टोर करावे।

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News