नालंदा के बजाय गया के अतरी- मोहड़ा के वन भूमि पर ही बने नेचर सफारी : कांग्रेस

नालंदा के बजाय गया के अतरी- मोहड़ा के वन भूमि पर ही बने नेचर सफारी : कांग्रेस

GAYA : अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य सह मगध प्रमंडल कांग्रेस प्रवक्ता प्रो विजय कुमार मिठू , किसान कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष मो सरवर खान, कांग्रेस सेवादल के प्रदेश महासचिव अमरजीत कुमार, संजीत बकथारिया, टिंकू गिरी, शिव कुमार चौरसिया आदि ने कहा कि नालंदा जिला के राजगीर में बन रहे नेचर सफारी में गया जिला के 5369 एकड़ जमीन मोहड़ा अंचल के जेठियान, अतरी अंचल के भोजपुर एवं चकरा गांव का जमीन शामिल है, जिसे राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गया जिला के वन भूमि को नालंदा जिला में स्थानांतरण का आदेश दिए है. राजस्व विभाग द्वारा इसके लिए कारवाई भी शुरू कर दिया गया है. 

नेताओं ने कहा की बथानी अनुमंडल में काफी वन भूमि है, जिसे नेचर सफारी के लिए विकसित किया जाए. ना की यहां के वन भूमि को नालंदा जिला में मिला कर गया जिला का नाम ही खत्म कर दिया जाए. नेताओ ने कहा की सूबे कि राजधानी पटना के बाद गया राज्य का सबसे महत्वपूर्ण जिला है. लेकिन नीतीश सरकार हमेशा इस जिला के विकास में अनदेखी कर, यहां के प्रोजेक्ट को नालंदा स्थांतरित कर दिया जाता है. जैसे गया में प्रस्तावित बिहार स्पोर्ट्स अकादमी, तारा मंडल, सी आईएस एफ कैंप, हैंडलूम पार्क सहित कई इसके उदाहरण है. 

नेताओं ने यह भी कहा की बथानी अनुमंडल के जेठियन, तपोवन की महत्ता बढ़ाने एवं पर्यटन के रूप में विकसित करने के उद्देश्य से गया जिला के वनभूमी को नालंदा जिला को स्थानांतरित करने के बजाए गया में ही नेचर सफारी बनाया जाए. 

गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News