जनरल रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश हादसा या साजिश? सुब्रमण्यम स्वामी ने की जांच की मांग, राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बड़ी चेतावनी

जनरल रावत का हेलिकॉप्टर क्रैश हादसा या साजिश? सुब्रमण्यम स्वामी ने की जांच की मांग, राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बड़ी चेतावनी

नई दिल्ली। चीफ आफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत के हेलिकॉप्टर हादसे की जांच की मांग अब सत्ताधारी पार्टी भाजपा के नेताओं की ओर से की जा रही है। राज्यसभा सदस्य सुब्रमण्यम स्वामी ने तमिलनाडु के कुन्नूर के पास हुए हेलीकाप्टर हादसे की जांच सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ न्यायाधीश से कराने की मांग की है। इस दुर्घटना में चीफ आफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 11 अन्य लोगों की मौत हो गई है। सिर्फ एक व्यक्ति जीवित बचा है और उनका अस्पताल में इलाज चल रहा है।

उन्होंने कहा, ऐसा लगता है कि ऐसा लगता है कि तमिलनाडु जैसे सुरक्षित इलाके में हेलीकाप्टर को उड़ा दिया गया हो। कर्नाटक के उडुपी में मीडिया से बात करते हुए स्वामी नेइस घटना को चौंकाने वाला और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए एक बड़ी चेतावनी बताया। उन्होंने कहा, अंतिम रिपोर्ट नहीं आई है, इसलिए मेरे लिए कुछ भी कहना बहुत मुश्किल है। यह एक ऐसी चीज है, जिसकी गंभीरता से जांच की आवश्यकता है। जनता को विश्वास में लेना होगा, इसलिए मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट के किसी वरिष्ठ न्यायाधीश करानी चाहिए।

दरअसल आम तौर पर जब इस प्रकार के वीवीआईपी हेलिकॉप्टर का परिचालन होता है तो उसे कई प्रकार की जांच प्रक्रिया से गुजारा जाता है। मौसम या तकनीकी जिस कारण से भी हादसा हुआ उसकी जांच और पूरी सत्यता को देश जानना चाहता है। 

अब तक यही कहा जा रहा है कि कुन्नूर में जिस जगह हेलिकॉप्टर दुर्घटना का शिकार हुआ वह घने जंगलों वाला इलाका है। साथ ही हादसे के समय वहां काफी कोहरा था। हेलिकॉप्टर भी घने कोहरे वाले इलाके में उड़ान भर रहा था। हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद एक मकान से टकराते हुए पेड़ों पर गिर गया जिसके कारण उसमें आग लग गई और जनरल रावत समेत अधिकांश लोगों की इसमें झुलसने से मृत्यु हो गई। रावत की पत्नी सहित कुल 13 लोगों की मौत हुई है।

Find Us on Facebook

Trending News