पटना के घाटों पर गंदगी देखकर बिफरे पार्षद, सफाई निरीक्षक को लगाई जमकर फटकार

पटना के घाटों पर गंदगी देखकर बिफरे पार्षद, सफाई निरीक्षक को लगाई जमकर फटकार

PATNA : तीन दिन बाद छठ पर्व है. लेकिन मनेर नगर पंचायत के घाटों की सफाई अबतक नहीं हुई है.  इससे लोगों के सामने गन्दगी एवं कूड़े के ढेर पर इस वर्ष छठ व्रती भगवान भाष्कर की आराधना करने की स्थिति बन गयी है. सोमवार को नगर पंचायत के उपाध्यक्ष मनोज कुमार यादव के साथ एक दर्जन वार्ड पार्षदों ने डुमरिया घाट से लेकर महीनवां तक घाटों का निरीक्षण किया. छठ घाटों पर कूड़े कचड़े एवं गन्दगी देखकर सभी पार्षद बिफर पड़े. किसी भी छठ घाट पर साफ सफाई की मुक्कमल व्यवस्था नहीं दिखी. 

पार्षदों ने सफाई एजेंसी के निरीक्षक को तत्काल घाट पर बुलाया एवं जमकर उसकी खिंचाई की. गन्दगी देखकर पार्षद आग बबूला हो गए. सफाई एजेंसी को दो दिन के अंदर सभी घाटों की सफाई कर उसे दुरुस्त करने का निर्देश दिया गया है. गन्दगी से गुस्साए नगरवासी सफाई एजेंसी के कर्मी के साथ मारपीट करने पर उतारू हो गए. लेकिन मौके पर मौजूद पार्षदों ने बीच बचाव कर मामला खत्म किया. डुमरिया, रामघाट, तिवारी टोला, राउर टोला, महीनवां आदि घाटों की अब तक सफाई नहीं हुई है. 

उपाध्यक्ष मनोज कुमार समेत अन्य वार्ड पार्षदों ने कहा है कि आधे दर्जन घाटों पर कुल दस मजदूर सफाई करते नजर आए. कार्यपालक पदाधिकारी पूजा माला को घाटों की साफ सफाई से कोई मतलब नहीं है. मोटी कमीशन लेकर सफाई एजेंसी से नगर पंचायत के लाखों रुपये लुटवा रही हैं. पार्षदों का फोन तक नहीं उठाती है. कार्यपालक पदाधिकारी ने अब तक घाटों का निरीक्षण तक नहीं किया है. निरीक्षण में पार्षद अमोल बजाज, संजय साव, कृष्णा प्रसाद, रामाधार सिंह, राजू सिंह, सुधीर कुमार, राजा खान, गोलू कुमार, मुन्ना कुमार आदि लोग मौजूद रहे. 


पटना ग्रामीण से सुमित कुमार की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News