कमरे में फंदे से लटकती हुई मिली स्वर्ण कारोबारी की लाश, गायब मिले लाखों रुपए के ज्वेलरी से भरे हुए बैग, शह गहराया

कमरे में फंदे से लटकती हुई मिली स्वर्ण कारोबारी की लाश, गायब मिले लाखों रुपए के ज्वेलरी से भरे हुए बैग, शह गहराया

SAMASTIPUR : बिहार में स्वर्ण कारोबारियों के साथ लूटपाट और हत्या के मामले में कमी नहीं आ रही है। उन्हें लगातार निशाना बनाया जा रहा है। ताजा मामला समस्तीपुर जिल के उजियारपुर थाना क्षेत्र से सामने आया है। जहां बैकुंठपुर ब्रह्नडा गांव में एक बंद घर में एक स्वर्ण कारोबारी की लाश पंखे से लटकती हुई मिली है। मृतक के परिजनों का कहना है कि उसकी हत्या की गई और लाश को फंदे से लटका दिया गया है। मिला। मृतक की पहचान वार्ड संख्या 11 निवासी मनोज साह के पुत्र राजू सोनी (35 वर्ष) के रूप में की गई है।

मृतक के भाई सुधीर कुमार का कहना था कि कुछ दिन पूर्व ही राजू ने जमीन खरीदकर मकान बनवाया है जो अभी भी अर्धनिर्मित है। वह बेगूसराय के मंसूरचक में सोने-चांदी की दुकान चलाता है। उसकी पत्नी भी यहां नही है, अपने रिश्तेदार के यहां गई हुई थी। वह रोजाना घर से ही आया-जाया करता था। 

बाहर से बंद था ताला, गहनों का बैग भी मिला गायब

शनिवार की रात को जब हम खाना लेकर गए तो उसने खाने से मना कर दिया। अगले दिन जब वह घर नही आया तो उसके मोबाइल पर कई बार फोन करने के बाद भी उत्तर नही मिला। शंका होने पर जब हम नए घर पर पहुंचे तो देखा कि बाहर से ताला बंद है। किसी तरह पीछे के रास्ते से अंदर गए तो उसका शव पंखा के सहारे लटका हुआ था। वहीं खोजबीन में लाखों रुपए मूल्य के सोने-चांदी से भरा बैग गायब था। 

हत्या की जताई आशंका

इधर घटना के बाद मृतक के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। परिजन अपने पड़ोसी पर ही हत्या का आरोप लगा रहे थे। वहीं स्थानीय लोगों का भी कहना था कि जैसे दरवाजा बाहर से बंद था, इससे हत्या से इनकार नहीं किया जा सकता है। इस संबंध में एसडीपीओ ने कहा कि पुलिस हर एंगल को लेकर छानबीन में जुटी है। परिजनों से आवेदन मिलने के बाद अग्रेत्तर कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस के खिलाफ उतारा गुस्सा

शव मिलने की जानकारी मिलने के बाद ग्रामीणों की भीड़ घटनास्थल पर जुट गई। सूचना पर पहुंची पुलिस को देख ग्रामीण आक्रोशित हो गया। ग्रामीणों की ईंट-पत्थर से पुलिस के एंटी लिकर टास्क फोर्स (एएलटीएफ) वाहन का शीशा टूट गया। पथराव व आक्रोश को देख पुलिस वाहन छोड़कर वापस लौट गई।

इसके बाद दलसिंहसराय एसडीपीओ दिनेश कुमार पांडेय, सर्किल इंस्पेक्टर उमाशंकर राय, थानाध्यक्ष अनिल कुमार, विद्यापतिनगर थानाध्यक्ष प्रसुनज्जय कुमार भारी संख्या में पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर स्थिति को नियंत्रित किया। वहीं आक्रोशित ग्रामीणों को समझाते हुए शव को कब्जे में लेकर कागजी कार्रवाई के बाद पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।


Find Us on Facebook

Trending News