पुलिस की गिरफ्त में आए हाइवे के लुटेरे, सिर्फ इस खास लोगों को बनाते थे लूटपाट के लिए निशाना

पुलिस की गिरफ्त में आए हाइवे के लुटेरे, सिर्फ इस खास लोगों को बनाते थे लूटपाट के लिए निशाना

KATIHAR : जिले के हाइवे पर लगातार हो रही लूटपाट की घटनाओं पर रोक लगाने को कोशिश में जुटी पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। एक लूट कांड के मामले में पुलिस ने हाइवे पर लूट पाट करनेवाले दो लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस की मानें तो इनका तीन लोगों का गैंग था, जो ज्यादातर हाइवे पर ही वारदातों को अंजाम देते थे। पुलिस की माने तो गैंग के तीसरे सदस्य की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। 

मामले में बताया गया कि इस माह की शुरुआत में 2 अगस्त को पोठिया थाना क्षेत्र में लूट की घटना हुई थी। जिसमें एक फाइनांस कर्मी से दो लाख 25 हजार की लूट हुई थी। पुलिस ने बताया कि इस लूट में  पहले से अपराध जगत से जुड़े रहे राकेश कुमार यादव और ललित मंडल लूट के मकसद से फाइनेंस कंपनी के एजेंट जो कि रिश्ते में ललित के चचेरा भाई है उसे टार्गेट बनाने के चक्कर में फेल हो गए।, इस दौरान लाइनर की सूचना पर ठीक उसके चचेरे भाई के पीछे आ रहे दूसरा एजेंट को उन लोगों ने टार्गेट  बनाते हुए  दूसरे सीएसपी संचालक कुंदन कुमार को निशाना बनाते हुए सवा दो लाख रूपया लूट लिया। जिसके बाद बाइक पर दोनों लुटेरे फरार हो गए। 

पुलिस के सामने थी चुनौती

2 अगस्त को पोठिया थाना क्षेत्र के खैरा मोड़ के पास इस घटना को पुलिस ने  चुनौती के रूप में लिया था और तब से अब तक लगातार प्रयास का परिणाम है कि पुलिस के हथकड़ी में जकड़े यह दो शख्स अब भविष्य में अपराध से तौबा करने की बात कह रहे हैं लेकिन इन दोनों पहले से ही अपराधिक इतिहास होने की बात पुलिस डायरी में दर्ज है और यह दोनों खासकर हाईवे के इलाके में ही लोगों को निशाना बनाते था पुलिस के माने तो यह दोनों काफी शातिर है और इससे पहले भी कई घटनाओं में यह दोनों अपराधी शामिल रहे हैं। बताया गया कि यह लोग फाइनांस कंपनी के कर्मियों को निशाना बनाते थे।

 फिलहाल पुलिस ने लूट की रकम में से 20 हजार नगद और लूट की घटना को अंजाम देने के दौरान इस्तेमाल किए गए दोनों मोटरसाइकिल भी जप्त कर लिया है,पुलिस ने घटना को अंजाम देने वाले अपराधी और घटना के एक लाइन को गिरफ्तार कर लिया है जबकि  घटना के समय घटना स्थल पर मौजूद दूसरा अपराधी अब तक फरार है, जिसके तलाश पुलिस कर रहे हैं और जल्द इनको भी गिरफ्तारी का दावा कर रहे हैं।

कटिहार डीएसपी ओम प्रकाश ने बताया कि पुलिस के हत्थे चढ़े दोनों अपराधियों ने अपने गुनाह कबूल ते हुए कहा कि अपने लाइनर की सूचना पर 2 लोगों ने मिलकर घटना को अंजाम दिया था जिसमें से लाइनर सहित एक अपराधी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया जबकि एक कप तक फरार है पकड़े गए दोनों अपराधियों ने लूट के लगभग दो लाख रुपए खर्च हो जाने की बात को भी कबूल रहा है।

कंपनियों को दी जानकारी देने की सलाह

हाईवे के इलाके में फाइनेंस कंपनी के एजेंटों को सॉफ्ट टारगेट बनाए जाने की लगातार बढ़ती घटना पर पुलिस ने इसे चुनौती के रूप में लेकर इस घटना का उद्भेदन तो कर दिया है, साथ ही पुलिस ने फाइनेंस कंपनी से भी अपील करते हुए कहा कि कई बार पुलिस यह निर्देश दे चुका है कि जब भी कोई फाइनेंस की ट्रांजैक्शन फाइनेंस कंपनी के एजेंटों द्वारा किया जाता है, उसमें संबंधित थाना को सूचना देना जरूरी है ताकि उसे सुरक्षा दिया जा सके मगर फाइनेंस कंपनी के एजेंट ऐसा नहीं कर रहे हैं जिस कारण से ऐसा अपराध बढ़ते जा रहा है, आगे एक बार फिर पुलिस फाइनेंस कंपनी को ऐसे करने की विशेष निर्देश दे रहे हैं ताकि हाईवे में लूट की ऐसी घटनाओं पर अंकुश लगाया जा सके।

Find Us on Facebook

Trending News