मुजफ्फरपुर आई हॉस्पीटल का मामला पहुँचा मानवाधिकार आयोग,अधिवक्ता एस.के.झा ने दायर की याचिका

मुजफ्फरपुर आई हॉस्पीटल का मामला पहुँचा मानवाधिकार आयोग,अधिवक्ता एस.के.झा ने दायर की याचिका

MUZAFFARPUR : जिले के आई हॉस्पीटल में मोतियाबिन्द के गलत ऑपरेशन के मामले को लेकर जिले के मानवाधिकार अधिवक्ता एस.के.झा ने बिहार मानवाधिकार आयोग एवं राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग को मामले की जानकारी दी हैं। उनके द्वारा बकायदा एक याचिका भी दाखिल की गई है। साथ-ही-साथ अधिवक्ता द्वारा मामले के सम्बंध में उच्च न्यायालय पटना और सुप्रीम कोर्ट नई दिल्ली को भी पत्र लिखा गया है। 

विदित हो कि आई हॉस्पीटल मुजफ्फरपुर में मोतियाबिन्द के मरीजों ने अपने आँख का ऑपरेशन करवाया था, लेकिन बाद में कुछ मरीजों के आँखो को निकालना पड़ गया। कई मरीजों के आँखो में इन्फेक्शन हो गया है। मामले के सम्बंध में अधिवक्ता एस.के.झा ने बताया कि प्रथम दृष्ट्या यह मामला लापरवाही का प्रतीत होता है। इसकी निष्पक्ष जाँच होनी चाहिए तथा दोषियों पर विधि सम्मत कार्रवाई होनी चाहिए। साथ-ही-साथ सभी पीड़ितों को सरकारी खर्च पर इलाज होनी चाहिए।

बता दें की मामला बीते 22 नवंबर की है, जब एक ट्रस्ट के सहयोग से आई हॉस्पीटल में 60 लोगों का मोतियाबिंद का ऑपरेशन करवाया गया था।  लेकिन अगले दिन पट्टी खुलने के बाद उन्हें कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था। ऑपरेशन के बाद 26 मरीज ऐसे थे, जिन्हें कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था। लगभग एक सप्ताह तक आई हॉस्पीटल के अधिकारी इस मामले को छिपाने की कोशिश में लगे रहे। लेकिन सोमवार को यह मामला सामने आ गया। जिसके बाद जिले के स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया।

मुजफ्फरपुर से अरविन्द अकेला की रिपोर्ट  

Find Us on Facebook

Trending News