भागलपुर के कहलगांव में एनटीपीसी की राख से कई गांव के लोग परेशान, ग्रामीण हो रहे बीमारियों के शिकार

भागलपुर के कहलगांव में एनटीपीसी की राख से कई गांव के लोग परेशान, ग्रामीण हो रहे बीमारियों के शिकार

भागलपुर. एनटीपीसी कहलगांव से निकली राख लोगों के लिए परेशानी बन चुकी है। तेज हवा चलने के बाद पूरा इलाका राख से भर जाता है। आसपास के दो पंचायत इससे ज्यादा प्रभावित हैं। खेतों में लगे फसलों को खासा नुकसान हो रहा है। घरों में खाने के सामानों व पानी पर राख बैठता है। इसके साथ ही ज्यादा प्रभावित बूढ़े व नवजात बच्चे हैं। एनटीपीसी की राख से इन्हें खांसी व अस्थमा की बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है।

लोगों का कहना है कि अपने बच्चों को बाहर तक नहीं ले जा पाते। खिड़की, रौशनदान गेट सब बन्द रखते हैं, लेकिन फिर भी परेशानी है। बच्चा बीमार रहता है। खाना पानी राख से भर जाता है। बताया जा रहा है इस क्षेत्र की रहने वाली बिंदु देवी के घर में 12 सदस्य है। सभी राख से बीमार हैं। आए दिन इसको लेकर एनटीपीसी के खिलाफ प्रदर्शन भी होते रहे है, लेकिन एनटीपीसी के अधिकारियों व जिला प्रशासन की ओर से इस ओर कोई ठोस पहल नहीं की गयी है।

कहलगांव जिला परिषद के प्रतिनिधि मनोहर मनोहर मण्डल ने बताया कि हजारों की आबादी एनटीपीसी के राख से प्रभावीत है। लोगों का खाना पीना सोना मुहाल हो गया है, लेकिन कभी कोई पहल एनटीपीसी की ओर से नहीं की गयी। ऐसा ही हाल रहा तो रणनीति बनाकर आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।

वहीं इस सम्बंध में लगातार मिल रही शिकायतों के बाद कहलगांव एसडीएम मधुकांत क्षेत्र भ्रमण पर निकले। उन्होंने खुद ये माना कि राख उड़ रही है, इससे बीमारियां होगी। उन्होंने कहा कि इसको लेकर एनटीपीसी के अधिकारियों से बात हुई है। उन्होंने कहा कि पानी देते रहते है, ताकि उड़े नहीं लेकिन ऐश डेक का क्षेत्र काफी बड़ा है तो हर जगह पानी नहीं पहुंच पाता होगा। लेकिन इस ओर पहल की जाएगी। 

Find Us on Facebook

Trending News