तीन नदियों से घिरे कटिहार में इस साल भी बाढ़ का खतरा, डिप्टी सीएम ने बैठक में कहा - प्रभावितों की सहायता में न हो कोई कमी

तीन नदियों से घिरे कटिहार में इस साल भी बाढ़ का खतरा, डिप्टी सीएम ने बैठक में कहा - प्रभावितों की सहायता में न हो कोई कमी

KATIHAR : बाढ़ के रेड जोन कहे जाने वाले कटिहार प्रशासन ने इस बार पहले से ही बाढ़ से निपटने के लिए तैयारी शुरू कर दी गई है। शनिवार को प्रदेश के डिप्टी सीएम और कटिहार विधायक तार किशोर प्रसाद ने अधिकारियों के साथ तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक की। इस बैठक में न सिर्फ उन्होंने बाढ़ ग्रसित इलाके में रहनेवाले लोगों को दूसरी जगह भेजने को लेकर  की जगह तैयारियों को लेकर जानकारी ली, इसके अलावा अधिकारियों को जरुरी दिशा निर्देश दिए। 

उप-मुख्यमंत्री ने बताया कि उन्होंने इसको लेकर बाढ़ से हर साल प्रभावित होने वाले अनुमंडल में बैठक करना शुरू कर दिया है और आवश्यक दिशा निर्देश के माध्यम से बाढ़ का प्रभाव कम करने की कवायद किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सिंचाई विभाग और जल संसाधन विभाग को निर्देश दिया गया है कि वह प्रभावित इलाके में लोगों को किसी प्रकार से किसी प्रकार से परेशानी न हो, उसके लिए सभी जरूरी कदम तत्काल प्रभाव से अभी से ही करना शुरू कर दें। 

बताते चलें गंगा, महानंदा एवं जिले के कई इलाके कोसी नदी से जुड़े हुए होने के कारण हर साल कटिहार जिले के लिए बाढ़ एक बड़ी समस्या है। हर साल यहां बाढ़ की विभिषिका में हजारों लोग बेघर हो जाते हैं। इस साल भी इन तीन नदियों में बाढ़ आने का अनुमान जाहिर किया गया है।


 

Find Us on Facebook

Trending News