इश्योरेंस एजेंट को ग्राहकों को पैसे पर करनी थी मौज मस्ती, इसलिए रची बड़ी साजिश

इश्योरेंस एजेंट को ग्राहकों को पैसे पर करनी थी मौज मस्ती, इसलिए रची बड़ी साजिश

KATIHAR : कटिहार पुलिस ने किया एक फर्जी लूट कांड का खुलासा किया है। बीते दिनों हुए फाइनें कंपनी के एजेंट से हुई लूट की घटना को लेकर पुलिस ने बताया कि इसमें पीड़ित ने ही पूरी लूट की साजिश रछी थी। ,पुलिस ने इस फर्जी लूट कांड का खुलासा करते हुए मुख्य आरोपी सहित तीन आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए लूटे गए राशि के अधिकतर बरामद कर लिया है।

लाइट,कैमरा और एक्शन के साथ अगर यह कहानी शूट किया जाता तो यकीन मानिए ये रूपहले पर्दे पर निश्चित तौर पर एक फिल्मी कहानी होता लेकिन कटिहार पुलिस की सजगता ने रील लाइफ से दूर रियल लाइफ की इस फर्जी लूट के ताना-बाना वाले कहानी को पूरी तरह फ्लॉप कर दिया, मामला 23 सितंबर रोशना थाना क्षेत्र के महादेवपुर की है, जहां निजी फाइनेंस कंपनी में काम करने वाले विनोद ठाकुर ने महादेवपुर के पास दोपहर दो से ढाई के बीच लूट की एक वारदात पर पुलिस को सूचना देते हुए मामला दर्ज कराया था।

 विनोद ने इस पर एफ.आई.आर दर्ज करवाते हुए कहा था कि वह अपने फाइनेंस कंपनी के लिए ग्रामीण इलाके से रुपया कलेक्शन कर लौट रहा था, इस दौरान अपराधियों ने मोटरसाइकिल से उनको ओवरटेक करते हुए हथियार के बल पर मोटरसाइकिल की डिक्की में रखें बैग छीन लिया, जिसमें लगभग डेढ़ लाख नगद, कंपनी का ही एक मोबाइल फोन और कुछ महत्वपूर्ण कागजात था। 

पुलिस जब इस पर तफ्तीश शुरू किया है तो जांच के दौरान पुलिस ने जो खुलासा किया वह काफी चौंकाने वाला है पुलिस ने एविडेंस के साथ महज तीन दिनों के अंदर इसकी खुलासा करते हुए कहा कि पुलिस तफ्तीश में यह बातें सामने आई है कि विनोद में अपना कर्ज चुकता करने और मौज मस्ती के लिए खुद ही खुद के लूटने की यह झूठी कहानी तैयार किया है,

 इस दौरान उन्होंने राजन कुमार ठाकुर और खुशीलाल कुमार का भी सहयोग लिया था। भागलपुर के राजन ठाकुर और खगरिया जिला के खुशीलाल को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वहीं पुलिस ने डेढ़ लाख की लूट की वारदात में विनोद कुमार ठाकुर से एक लाख तैतालिश हज़ार चारसौ, जबकि राजन ठाकुर और खुशीलाल सेवी 1550 और 900रु बरामद कर लिया है, पुलिस ने घटना के दौरान इस्तेमाल किए गए मोबाइल भी बरामद किया है।

पुलिस के गिरफ्त में आए तीनों आरोपी ने घटना में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है, मुख्य आरोपी विनोद ने कहा कि उन्होंने ही रुपया की जरूरत होने के कारण इस फर्जी लूट की कहानी को रचा था और घटना को अंजाम दिया था, इस दौरान उन्होंने राजन और खुशी लाल की सहयोग लेने के बात भी कहां है फिलहाल तीनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया है। फिलहाल कटिहार पुलिस लूट की इस फर्जी कहानी का खुलासा कर बेहद संतुष्ट है


Find Us on Facebook

Trending News