बदल जाएगा इंटरनेट स्पीड, मोदी सरकार ने 5G स्पैक्ट्रम की नीलामी पर लगाई मुहर, जुलाई में होगी नीलामी

बदल जाएगा इंटरनेट स्पीड, मोदी सरकार ने 5G स्पैक्ट्रम की नीलामी पर लगाई मुहर, जुलाई में होगी नीलामी

DESK. इंटरनेट की दुनिया में बड़ा बदलाव करने की दिशा में भारत ने बुधवार को अहम फैसला लिया. देश में 5जी सेवाओं की शुरुआत को लेकर मोदी सरकार ने मुहर लगाई है. पीएम नरेंद्र मोदी  की अध्‍यक्षता में बुधवार को हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी को मंजूरी दे दी है. जुलाई के अंत तक स्पेक्ट्रम को अगले 20 साल के लिए नीलाम किया जायेगा. स्पेक्ट्रम की नीलामी लो, मीडियम और हाई फ्रिक्वेंसी बैंड के लिए की जायेगी.

20 साल वैलिडिटी पीरियड के साथ कुल 72097.85 मेगाहर्ट्ज (MHz) स्पैक्ट्रम की नीलामी जुलाई 2022 के आखिर तक की जायेगी. स्पैक्ट्रम की नीलामी लो (600 MHz, 700 MHz, 800 MHz), मिड (3300 MHz) और हाई (26 MHz) फ्रीक्वेंसी बैंड के लिए होगी. टेलिकॉम ऑपरेटर मिड और हाई फ्रीक्वेंसी बैंड स्पेक्ट्रम का इस्तेमाल 5G टेक्नोलॉजी बेस्ड सर्विसेज के रोल-आउट के लिए करेंगे.

भारत में 5जी सर्विस शुरू होने से इंटरनेट की स्पीड बढ़ जायेगी. यह मौजूदा 4G सर्विस से 10 गुना ज्यादा तेज होगी. 5जी सर्विस कब से शुरू होगी इसकी तारीख तय नहीं की गयी है. लेकिन सरकार के मेंडेट के हिसाब से जो भी कंपनी स्पैक्ट्रम खरीदेगी उसको 6 महीने से 1 साल के अंदर सर्विस शुरू करनी होगी.


Find Us on Facebook

Trending News