जमशेदपुर में किराए के मकान में रह रहा था दाउद का शूटर, 24 साल बाद आया गिरफ्त में

जमशेदपुर में किराए के मकान में रह रहा था दाउद का शूटर, 24 साल बाद आया गिरफ्त में

जमशेदपुर।  देश का मोस्टवांटेड दाऊद इब्राहिम का करीबी अब्दुल माजिद कुट्टी को गुजरात एंटी टेरर स्क्वॉड (एटीएस) ने मानगो बारी मस्जिद के पास से गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है। अब्दुल मजीद कुट्टी की गुजरात एटीएस को 24 वर्षोंं से तलाश थी। बताया गया  1996 में दाऊद इब्राहिम के इशारे पर मजीद ने महाराष्ट्र और गुजरात में गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान बम विस्फोट करने की योजना बनाई थी। माना जा रहा है कि कुट्टी की गिरफ्तारी से एटीएस को कई नई जानकारी मिल सकती है। 

जानकारी के अनुसार कुट्टी की गिरफ्तारी 25 दिसंबर को हुई थी. शनिवार को एटीएस की टीम उसे सड़क मार्ग से रांची ले गयी, जहां से हवाई जहाज से गुजरात ले जाया गया. बताया गया कि वह 1997 में गणतंत्र दिवस पर गुजरात और महाराष्ट्र में विस्फोट के लिए 106 पिस्तौल, 750 कारतूस और करीब चार किलो आरडीएक्स सप्लाई करने का आरोपी है. लेकिन समय रहते सूचना मिल जाने पर गुजरात एटीएस ने आतंकियों की योजना को नाकाम करते हुए गुजरात के मेहसाणा से हथियार और विस्फोटक बरामद कर लिए थे। मजीद तबसे फरार चल रहा था। इस दौरान कई वर्षों तक वह मलेशिया और दुबई में भी रहा। 

एक साल से टाटा में बनाया था ठिकाना


बताया गया कि मूल रूप से केरल का रहनेवाला कुट्टी एक साल से वह जमशेदपुर में रह रहा था। आतंकी अब्दुल मजीद जमशेदपुर में आस्था गार्डेन के पास मानगो में अपने एक रिश्तेदार के यहां रह रहा था। यहां उसने अपना नाम बदलकर मोहम्मद कलाम रख लिया था और इसी नाम से आधार कार्ड और पासपोर्ट भी बनवा लिया था।  उसके दो बेटा और एक बेटी हैं।

दाउद का मोस्ट वांटेड शूटर है मजीद

मजीद को अंडरवर्ल्‍ड सरगना डॉन दाऊद इब्राहिमका शूटर मोस्ट वांटेड गैंगस्टर बताया जा रहा है।  1997 में हथियारों की सप्लाई में नाम आने के बाद वह मलेशिया फरार हो गया था, जहां से उसने अपने हथियारों की तस्करी का धंधा जारी रखा। बताया जा रहा है कि इस दौरान वह दाउद और छोटा राजन के संपर्क में भी बना रहा।

Find Us on Facebook

Trending News