JDU व सुशील मोदी साथ-साथ: पूर्व डिप्टी CM की सफाई, हमने बिहार में समान नागरिक संहिता लागू करने की बात कभी नहीं कही

JDU व सुशील मोदी साथ-साथ: पूर्व डिप्टी CM की सफाई, हमने बिहार में समान नागरिक संहिता लागू करने की बात कभी नहीं कही

पटना. बिहार में समान नागरिक संहिता को लेकर सत्ताधारी दल जदयू और भाजपा में तकरार देखा जा रहा था। इस पर बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री व भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने विराम लगा दिया है। सुशील कुमार मोदी ने स्पष्ट कर दिया है कि उन्होंने बिहार में समान नागरिक संहिता लागू करने की बात कभी नहीं कही।

सुशील मोदी ने कहा कि उन्होंने वीर कुवँर सिंह विजयोत्सव पर अपने भाषण में गृह मंत्री अमित शाह के इस वक्तव्य की चर्चा की थी कि भाजपा शासित राज्यों में समान नागरिक संहिता लागू की जाएगी। उन्होंने कहा कि गृह मंत्री शाह ने राम मंदिर निर्माण की बाधाएं दूर करने और जम्मू-कश्मीर में धारा-370 को निष्प्रभावी करने जैसे फैसलों के बाद भाजपा शासन वाले राज्यों में समान नागरिक संहिता लागू करने को पार्टी का अगला कदम बताया था। उत्तराखंड में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में समान नागरिक संहिता लागू की जाएगी। 

सुशील मोदी ने कहा कि राम मंदिर, धारा-370, तीन तलाक और समान नागरिक संहिता जैसे मुद्दों पर भाजपा की अलग राय स्पष्ट है, लेकिन जहां पार्टी दूसरे दलों के साथ सत्ता में है, वहां केवल आम सहमति के आधार पर निर्णय लिया जाएगा।  उन्होंने कहा कि बिहार की एनडीए सरकार इस प्रयोग का सफल उदाहरण है। 

Find Us on Facebook

Trending News