बैडमिंटन का विश्व चैंपियन बनने से चूक गए कांदबी श्रीकांत, 24 साल के सिंगापुरी खिलाड़ी ने 42 मिनट में दी मात

बैडमिंटन का विश्व चैंपियन बनने से चूक गए कांदबी श्रीकांत, 24 साल के सिंगापुरी खिलाड़ी ने 42 मिनट में दी मात

DESK : स्पेन में चल रहे बैडमिंटन के विश्व चैंपियनशिप का विजेता बनने का सपना लिए कोर्ट में उतरे भारतीय खिलाड़ी कादंबी श्रीकांत को निराशा का सामना करना पड़ा। विश्व चैंपियनशिप में पहले भारतीय पुरुष खिलाड़ी बननेवाले श्रीकांत को वर्ल्ड चैंपियनशिप में मेंस सिंगल्स के फाइनल मुकाबले में सिंगापुर के 24 साल के किन यू लो ने श्रीकांत को लगातार गेम में 21-15, 22-20 से हरा दिया। किन ने इस मुकाबले को जीतने के लिए सिर्फ 42 मिनट का समय लिया। जिसके कारण श्रीकांत को सिल्वर से संतोष करना पड़ा। इससे पहले लक्ष्य सेन ने कांस्य पदक जीता था। वही वीमंस सिंगल्स में पीवी सिंधु को क्वार्टर फाइनल में चीनी ताइपे की ताइ जू यिंग से हार झेलनी पड़ी थी।

पहले गेम में बढ़त हासिल करने के बाद फिसले

पहले गेम में श्रीकांत ने 9-5 की बढ़त बना ली थी। वे फिर 11-7 से भी आगे हुए। लेकिन सिंगापुर के खिलाड़ी ने यहां से जोरदार वापसी करते हुए पहला गेम 21-15 से जीत लिया। वहीं दूसरे गेम में की शुरुआत में भी श्रीकांत ने अच्छा प्रदर्शन किया। वे एक समय 9-5 से आगे थे। लेकिन, कीन यू ने यहां से लगातार 7 पॉइंट लेते हुए 12-9 की बढ़त बना ली। दोनों खिलाड़ी 20-20 की बराबरी पर भी पहुंचे। लेकिन कीन यू की तेज रफ्तार का श्रीकांत के पास कोई जवाब नहीं था। आखिरकार मुकाबला सिंगापुर के खिलाड़ी ने जीत लिया

सिल्वर जीतनेवाले पहले खिलाड़ी

फाइनल में हारने के बाद भी श्रीकांत ने भारत के लिए एक नया रिकॉर्ड बना दिया है। 28 साल के श्रीकांत इस टूर्नामेंट में सिल्वर मेडल जीतने वाले पहले भारतीय पुरुष खिलाड़ी बन गए हैं। जबकि भारत के लिए महिलाओं में पीवी सिंधु ने 5 (1 गोल्ड, 2 सिल्वर और 2 ब्रॉन्ज) मेडल अपने नाम किए हैं। साइना नेहवाल ने एक ब्रॉन्ज जीता है। ज्वाला गुट्टा और अश्विनी पोनप्पा की जोड़ी ने भी ब्रॉन्ज हासिल किया है। पुरुषों में प्रकाश पादुकोण और बी साई प्रणीत ने ब्रॉन्ज जीतने में सफलता हासिल की थी। इस बार श्रीकांत को सिल्वर और लक्ष्य सेन को ब्रॉन्ज मेडल मिला है।


Find Us on Facebook

Trending News