खगड़िया में जान जोखिम में डाल सफर कर रहे हैं लोग, पुलिस बनी मूकदर्शक

खगड़िया में जान जोखिम में डाल सफर कर रहे हैं लोग, पुलिस बनी मूकदर्शक

KHAGARIA : खगड़िया, महेशखूंट,मानसी में ओवरलोडिंग वाहनों का परिचालन नहीं रुक रहा है. जिसके कारण किसी भी समय बड़ी दुर्घटना होने की संभावना बनी रहती है. प्रशासन की अनदेखी के कारण असाम रोड चौराहे पर जीप व अन्य वाहन ओवरलोड होकर ही महेशखूंट से खुलते हैं. लेकिन स्थानीय प्रशासन इस पर सख्ती से रोक नहीं लगा पा रहा है. जबकि महेशखूंट थाना क्षेत्र में बराबर सड़क दुर्घटनाएं होते रहती है. 

जिससे प्रशासन सबक नहीं ले रहा है. वही हाल खगड़िया बस स्टैंड का भी है. दुर्घटना के बाद कभी-कभी कार्रवाई की याद आती है. वाहन चेकिंग के नाम पर सिर्फ बाइक की ही सघन चेकिंग की जाती है. जिसके कारण बडे़ वाहनों में यात्रियों को पशु के सामान ओवरलोड कर बेरोकटोक ढोया जा रहा है. कभी-कभी वाहनों में इतनी भीड़ खासकर एनएच पर दिखती है कि लगता है थोड़ी सी भी चूक होने पर बड़ी घटना हो सकती है. 

वही दूसरी ओर महेशखूंट-जमालपुर, महेशखूंट-करुआमोड़ आदि सड़कों में नाबालिग धड़ल्ले से ऑटो व ई-रिक्शा चला रहे हैं. लेकिन वाहन चेंकिग के दौरान ऑटों चला रहे नाबालिग पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. जिससे नाबालिग के वाहन चलाने पर अंकुश नहीं लग पा रहा है. महेशखूंट में दो राष्ट्रीय राजमार्ग, एक रेलवे स्टेशन व लाखों की घनी आबादी के कारण हजारों यात्री रोज यात्रा करने असाम रोड चौराहे पर जाते हैं. 

लेकिन स्थाई ट्रैफिक पुलिस नहीं रहने के कारण यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है. स्थानीय जनप्रतिनिधियों, सामाजिक न्याय समिति के अध्यक्ष सह मानसी प्रखंड के उप प्रमुख हीरालाल यादव ने जिला प्रशासन से स्थाई ट्रैफिक पुलिस देने की मांग की है. 

खगड़िया से अनिश कुमार की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News