कोरोना काल में भी पटना IIT ने अपना पिछला रिकॉर्ड तोड़ा, इस बार 83.51% छात्रों का हुआ कैंपस सेलेक्शन

कोरोना काल में भी पटना IIT ने अपना पिछला रिकॉर्ड तोड़ा, इस बार 83.51% छात्रों का हुआ कैंपस सेलेक्शन

पटना...  कोरोना महामारी में अगर सबसे ज्यादा कोई भी चीज प्रभावित हुई है तो वो है रोजगार। कोरोना काल में लाखों लोगों की नौकरी चली गई है, लेकिन कुछ संस्थान ऐसे भी हैं जो इस महामारी के बीच भी लोगों को जॉब देने में कोताही नहीं बरती है। जी हां हम बात कर रहे हैं आईआईटी पटना, जिसने कोरोना काल में भी जॉब देने का रिकॉर्ड  बनाया है। खास बात यह है कि जॉब देने के मामले में आईआईटी पटना ने अपना ही रिकॉर्ड को तोड़ा है। बीटेक व एमटेक मिलाकर संस्थान के 83.51% स्टूडेंट्स का कैंपस सलेक्शन हुआ है। 

सत्र 2019-20 में प्लेसमेंट की प्रक्रिया समाप्त हो गई है। अभी सत्र 2020-21 की प्लेसमेंट प्रक्रिया जारी है। 2021 में पासआउट होने वाले स्टूडेंट्स के लिए भी नौकरी की कमी नहीं है। प्लेसमेंट देने वाली कंपनियों की लिस्ट काफी लंबी है। एक दिसंबर से लगातार प्लेसमेंट की प्रक्रिया जारी रहेगी। इसमें कई देशी व विदेशी कंपनियां शामिल हैं। 2021 में पासआउट होने वाले कंप्यूटर साइंस के 75% स्टूडेंट्स को नौकरी मिल भी गई है। 

ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट के इंचार्ज कृपा शंकर सिंह ने कहा कि कैंपस प्लेसमेंट के लिए दिसंबर में कई सारी कंपनियां लगातार प्लेसमेंट के लिए आ रही हैं। अभी आइटी सेक्टर की कंपनियों की क्वेरी ज्यादा है। कोरोना संकट में आइआइटी पटना ने ऑनलाइन प्रक्रिया जल्द शुरू कर दी थी, जिसके कारण भी प्लेसमेंट का ग्राफ काफी बढ़ गया। कई सारी कंपनियां जो कैंपस नहीं आ सकती थीं, वे भी इस बार ऑनलाइन प्लेसमेंट में शामिल हुईं। 


पिछले साल की तुलना में इस बार संस्थान के कैंपस प्लेसमेंट में 12% का इजाफा हुआ है। बीटेक में इस बार 94.35% स्टूडेंट्स का प्लेसमेंट हुआ है। वहीं, एमटेक में कैंपस प्लेसमेंट में 30% की बढ़ोतरी हुई है। एमटेक के कुल 62.50% छात्रों का प्लेसमेंट हुआ है। पिछली बार एमटेक के 32.50% स्टूडेंट्स का प्लेसमेंट हुआ था। बीटेक और एमटेक मिला कर 83.51% स्टूडेंट्स का प्लेसमेंट हुआ है। कृपा शंकर सिंह ने कहा कि कोरोना के समय में भी आइआइटी पटना के स्टूडेंट्स को इस बार काफी जॉब ऑफर हुआ है।

इस बार कंपनियों की संख्या भी अधिक थी। इस बार 111 से अधिक कंपनियां शामिल हुईं। 2019 में करीब 95 कंपनियां शामिल हुई थीं। इस बार इंटरनेशनल ऑफर्स के भी पुराने सारे रिकॉर्ड टूट गए हैं। पिछले साल अधिकतम 38 लाख का इंटरनेशनल जॉब ऑफर था। इस बार जापान की कंपनी राकुटिन ने तीन स्टूडेंट्स को 59-59 लाख का जॉब ऑफर किया है। 2020-21 के लिए भी काफी अधिक पैकेज पर जॉब ऑफर है। 

अब सत्र 2020-21 के लिए प्लेसमेंट की प्रक्रिया जारी है। अब तक तीन कंपनियों ने बेहतर प्लेसमेंट स्टूडेंट्स को दिया है। एक दिसंबर से लगातार प्लेसमेंट की प्रक्रिया शुरू हो रही है। 2019-20 में प्रमुख रूप से जापान, जर्मनी, इंग्लैंड और यूएसए की कंपनियों ने काफी बड़े पैकेज पर जॉब ऑफर किए हैं। इस बार भी प्रमुख कंपनियों में गूगल, राकुटिन, माइक्रोसॉफ्ट, गोल्डमैन सैक्स, कोडनेशन, डायरेक्ट आइ, अमेजन इंडिया व अन्य कंपनियां हैं। सरकार की पीएसयू एचपीसीएल और आइओसीएल में भी संस्थान के छात्रों का चयन हुआ है। 

Find Us on Facebook

Trending News