चाचा-भतीजा पर बरसे नेता प्रतिपक्ष, पूछा - पेपर लीक होने से छह लाख परीक्षार्थियों के पैसे बर्बाद होने का जिम्मेदार कौन, सरकार लौटाए सारे पैसे

चाचा-भतीजा पर बरसे नेता प्रतिपक्ष, पूछा - पेपर लीक होने  से छह लाख परीक्षार्थियों के पैसे बर्बाद होने का जिम्मेदार कौन, सरकार लौटाए सारे पैसे

PATNA : पेपर लीक होने के कारण बिहार में सिपाही भर्ती परीक्षा रद्द हो चुकी है। साथ ही आज होनेवाली परीक्षा भी स्थगित हो चुकी है। लेकिन, अभी इस पर राजनीति थमती नजर नहीं आ रही है। नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने एक बार फिर से परीक्षा रद्द होने के लेकर चाचा-भतीजा की सरकार पर बड़ा हमला बोला है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि पेपर लीक होना सरकार की नाकामी है, लेकिन इसका खामियाजा उन छह लाख परीक्षार्थियों को उठाना पड़ रहा है, जो नौकरी पाने की उम्मीद पाले हुए इस परीक्षा में शामिल हुए थे।

विस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा कि परीक्षा का सेंटर दूर दराज क्षेत्रों में दिए गए थे। जहां पहुंचने के लिए परीक्षार्थियों के हजारों रुपए खर्च हो गए। यह ऐसे परीक्षार्थी थे जो मुश्किल से पैसों का जुगाड़ कर सके थे। लेकिन सरकार की खराब व्यवस्था के कारण न सिर्फ परीक्षा स्थगित कर दी गई, बल्कि इन परीक्षार्थियों के पैसे भी बर्बाद हो गए, जिसके लिए पूरी तरह से राज्य सरकार जिम्मेदार है। सरकार को इस मामले में जवाब देना होगा।

सारा खर्च वहन करे सरकार

नेता प्रतिपक्ष ने कहा राज्य सरकार की नाकामी के कारण परीक्षा रद्द हुआ, ऐसे में अब परीक्षा आयोजित करने से पहले सरकार सभी परीक्षार्थियों का सारा पैसा वापस करे, ताकि उन्हें दोबारा अपनी जेब से खर्च वहन नहीं करना पड़े।

पेपर लीक कांड की सीबीआई जांच की मांग

विजय सिन्हा ने सिपाही भर्ती परीक्षा की जांच को सीबीआई से कराने की मांग करते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने एक ऐसे व्यक्ति को चयन पर्षद का अध्यक्ष बना दिया है। जिन पर डीजीपी रहते हुए भ्रष्टाचार के कई आरोप हैं। हमारी मांग है कि ऐसे अधिकारी को तत्काल पद से हटाया जाए और इसके साथ जो भी दोषी अधिकारी हों उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।


Find Us on Facebook

Trending News