छपरा में बिजली की आँख मिचौनी जारी, पूजा समितियों की बढ़ी परेशानी

छपरा में बिजली की आँख मिचौनी जारी, पूजा समितियों की बढ़ी परेशानी

CHHAPRA : बिहार में अब बिजली संकट का असर दिखने लगा है। इसका नतीजा है की छपरा शहरी क्षेत्र की बिजली आपूर्ति व्यवस्था दिन प्रति दिन गड़बड़ाती जा रही है और इसके जिम्मेदार बेफिक्र हैं। पहले जहां बिजली कटती थी तो कुछ देर में ही आ जाया करती थी। लेकिन कुछ दिनों से यह हाल है कि यह घंटों कटी रहने लगी है। पूर्वी और पश्चिमी शहर में बिजली घंटों तक आंख मिचौली करती रही और बिजली अधिकारियों से सही जवाब तक नहीं मिला। घंटे भर में 10 से 12 बार बिजली का भूक भाक का खेल चलता रहा। सब स्टेशन के कर्मचारियों से भी संतोषप्रद जवाब नहीं मिला। वैसे जो कारण सामने आए है। उनमें सबसे पहला कारण दशहरा के चलते बिजली की खपत बढ़ना था। ओवरलोडिंग और ओवर हीटिंग से बिजली का आंख मिचौली जारी था। इस कारण पूर्वी शहर के लोगों को बिजली संकट का सामना करना पड़ा था। लगभग तीन घंटे तक बिजली की आंख मिचौली नहीं थमी तो लोगों ने जनरेटर की मदद ली।

सरकारी और प्राइवेट कार्यालयों के कर्मचारी रहे तबाह

बिजली की आंखमिचौली का असर सबसे अधिक सरकारी और प्राइवेट कार्यालयों के कर्मियों पर पड़ा। जब यह कंप्यूटर ऑन करते थे तो बिजली कट जाती थी और कुछ देर के यूपीएस के बैकअप के बाद कंप्यूटर बंद हो जाता था। जैसे ही कंप्यूटर बंद होता था वैसे ही फिर बिजली आ जाती थी और इस तरह या प्रक्रिया लगातार चल रही थी। जिससे कर्मी काफी नाराज हो गए। कलेक्ट्रेट से लेकर सभी सरकारी व गैर सरकारी विभागों में यही स्थिति रही।

अखबारों के दफ्तर में भी रही परेशानी

अमूमन अखबारों के दफ्तर में 12:00 बजे दिन से काम शुरू हो जाता है और शाम में इस तिथि काफी गंभीर हो जाती है। हर हाल में 7:00 बजे के पहले सभी समाचार भेजने होते हैं। लेकिन इसी वक्त बिजली विभाग की नौटंकी भी शुरू हो जाती है। लगातार आंख मिचौली से सोमवार को दिन भर अखबारों के दफ्तर में कामकाज काफी प्रभावित रहे। कई बार तो पूरी लिखी हुई खबर बिजली की आंख मिचौली से डिलीट हो गई कई फाइल तक उड़ गए। कार्यालय के कर्मियों पर इसकी चिंता साफ देखी जा सकती थी।

पूजा समितियां भी परेशान रही

यही हाल शहर के विभिन्न पूजा समितियों की रही। पंचमी के बाद पूजा समितियां सस्ती और सप्तमी की तैयारी में जुटी हैं। सप्तमी को मां का पट खुल गया है। ऐसे में बिजली की आंख मिचौली ने इनके तैयारी में भी खलल डाल दिया है। प्रभुनाथ फीडर के उपभोक्ताओं के साथ ऐसा ही हाल  रहा। 

बिजली की हो रही सामान्य आपूर्ति

अभी जो स्थिति बताई जा रही है छपरा शहर को पर्याप्त बिजली मिल रही है। कार्यपालक अभियंता के अनुसार 22 से 23 घंटे के लिए बिजली आपूर्ति हो रही है। कोयला आपूर्ति संबंधित समस्या से छपरा भी प्रभावित नहीं है। बावजूद बिजली की आंख मिचौली हो रही है। जिससे लोगों की परेशानी बढ़ गई है।

क्या कहते है कार्यपालक अभियंता

कुछ जगहों को छोड़कर शहर में इस तरह की समस्या नहीं है। यदि ऐसा है तो इसकी जांच कराई जाएगी। पता किया जा रहा है कि सबसे अधिक शटडाउन और ब्रेकडाउन किस एरिया में लिया गया है निश्चित  कार्रवाई होगी।

छपरा से संजय भारद्वाज की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News