अयोध्या में विवादित जगह पर हिंदुओं ने चोरी से मूर्तियां रखी थीं... सुप्रीम कोर्ट से बोले मुस्लिम पक्षकार

अयोध्या में विवादित जगह पर हिंदुओं ने चोरी से मूर्तियां रखी थीं... सुप्रीम कोर्ट से बोले मुस्लिम पक्षकार

अयोध्या मामले में हिंदू पक्षों के दावों का विरोध करते हुए मुस्लिम पक्षकारों ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में अपनी दलीलें दीं। मुस्लिम पक्ष की तरफ से पेश वरिष्ठ वकील राजीव धवन ने कहा कि विवादित जगह पर हिंदुओं ने चोरी से मूर्तियां रखी थीं। उन्होंने कहा कि देश के आजाद होने की तारीख और संविधान की स्थापना के बाद किसी धार्मिक स्थल का परिवर्तन नहीं किया जा सकता। राजीव धवन ने कहा महज स्वयंभू होने के आधार पर यह निष्कर्ष नहीं निकाला जा सकता कि अमुक स्थान किसी का है। सुप्रीम कोर्ट से मैं चाहूंगा कि वह इस मामले के तथ्यों के आधार पर फैसला दे। 

इससे पहले सुनवाई के 17वें दिन मुस्लिम पक्षों ने मस्जिद पर हमले का जिक्र किया। कहा गया कि हिन्दुओं ने 1934 में बाबरी मस्जिद पर हमला किया, फिर 1949 में अवैध घुसपैठ की और 1992 में इसे तोड़ दिया और अब कह रहे हैं कि संबंधित जमीन पर उनके अधिकार की रक्षा की जानी चाहिए।

बता दें कि चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय संवैधानिक पीठ इस मामले की सुनवाई कर रही है। इस संवैधानिक पीठ में जस्टिस एस. ए. बोबडे, जस्टिस डी. वाई. चंद्रचूड़, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस. ए. नजीर भी शामिल हैं। पूरा विवाद 2.77 एकड़ की जमीन को लेकर है।



Find Us on Facebook

Trending News