नेवी में नौकरी के नाम पर एमए पास युवती की हुई शादी, ससुराल पहुंचते ही पता चला दूल्हा है बेरोजगार

नेवी में नौकरी के नाम पर एमए पास युवती की हुई शादी, ससुराल पहुंचते ही पता चला दूल्हा है बेरोजगार

MADHUBANI : इंडियन नेवी में नौकरी। सुनते ही कोई पिता अपनी बेटी की शादी करने के लिए तैयार हो जाएगा। एमए पास ममता के पिता ने भी बेटी के लिए यही सोचा और जमीन बेचकर बेटी की शादी करा दी। हकीकत तब सामने आ गई, जब युवती अपने ससुराल पहुंची। जहां ममता को पता चला जिससे उसकी शादी हुई है, वह नेवी ऑफिसर तो दूर की बात है, कहीं भी नौकरी नहीं करता है और बेरोजगार है। इस घटना के बाद जब युवती ने विरोध जताना शुरू किया तो उसके सारे गहने छिन लिए गए और घर से बाहर निकाल दिया। अब युवती ने ससुरालवालों के खिलाफ थाने में धोखेबाजी और प्रताड़ना की शिकायत दर्ज कराई है।

मामला बाबूबरही थाना के के बलाटी मुरहदी गांव से जुड़ा है। जहां लड़का के इंडियन नेवी में नौकरी करने का झांसा देकर बलाटी मुरहदी गांव की लड़की एमए की छात्रा ममता कुमारी की शादी उससे करा दी गई। दुल्हे के फुआ ने उसके अनपढ़ पिता को यह झांसा दिया कि खोजपुर बभनटोली निवासी सुरेंद्र कुमार यादव इंडियन नेवी में नौकरी करता है। उस वक्त सबूत के नाम पर फर्जी सर्टिफिकेट भी दिखा दिया गया।


जमीन बेचकर की बेटी की शादी, 20 लाख किए खर्च

नौकरीशुदा दामाद की उम्मीद में ममता के पिता ने अपनी बहुमूल्य जमीन बेचकर शादी में तकरीबन 20 लाख रुपये खर्च कर डाले। धूमधाम से इसी वर्ष 11 मार्च को शादी संपन्न हुई। ममता कई सारे सपने संजोये अपने ससुराल पहुंची, लेकिन पहली ही रात उसे पति के नौकरी को लेकर संदेह हो गया। लोकलाज के कारण वह सबकुछ सहती रही।

कार की करने लगे मांग

हद तो तब हो गई जब ससुराल पक्ष के लोगों सहित पति के ननिहाल के लोगों ने भी एकमत होकर बतौर दहेज चार चक्का गाड़ी की मांग शुरू कर दी। जब ममता ने पिता की माली हालत का हवाला देते हुए कार मांगने से इनकार किया तो उसे प्रताडि़त किया जाने लगा। इस प्रताडऩा से बचने के लिए वह पति पर अपने साथ नौकरी वाली जगह ले जाने का दबाव बनाने लगी। उसके दबाव से तंग आकर पति उसे 25 अप्रैल को पटना के एक होटल में ले गया। वहां उसे पति की सारी सच्चाई पता चल गई। वहां भी उसके साथ मारपीट की गई। 

इसके बाद सात-आठ दिन बाद उसकी जिद पर उसे वापस ससुराल लाया गया और वहां से उसके सारे जेवरात छीन उसे भगा दिया गया। अब वह न्याय के लिए थाने की शरण में है। थानाध्यक्ष रामाशीष कामती ने कहा कि मामले की पड़ताल शुरू कर दी गई है।

Find Us on Facebook

Trending News