लॉकडाउन में महावीर मंदिर में भी हो गई कैश की कमी, एफडी पर टिकी आस

लॉकडाउन में महावीर मंदिर में भी हो गई कैश की कमी, एफडी पर टिकी आस

पटना : कोरोना काल में लॉकडाउन की वजह से अब पटना के महावीर मंदिर में भी कैश की कमी हो गई है. भक्तों से मिलने वाले आय में भारत में वैष्णो देवी के बाद दूसरे नंबर पर रहने वाले महावीर मंदिर कैश की कमी से जूझ रहा है. बताया जाता है कि महावीर मंदिर को पिछले पांच महीने में 8 करोड़ का नुकसान हुआ है.

लॉकडाउन में मंदिर बंद रहने की वजह से  नो तो नैवेद्यम की बिक्री हुई ना कर्मकांड, हवन,कथा, पूजन के साथ साथ अन्य गतिविधियां नहीं हो सकीं.जानकारी के मुताबिक मंदिर को श्रद्धालुाओं से हर दिन 5 लाख की आय होती है जो कि महीने में डेढ़ करोड़ के आसपास है. मंदिर के प्रबंधन का कहना है कि मंदिर और एक महीना बंद रहा तो मंदिर की फिक्स डिपॉजिट तोड़ने की नौबत आ जाएगी.

पांच करोड़ देनी होती है सैलरी
महावीर मंदिर की तरफ से पटना में पांच बड़े अस्पताल चलाए जाते हैं.इनमे महावीर वात्सल्य अस्पताल,महावीर आरोग्य कैंसरक संस्थान, महावीर आरोग्य संस्थान, महावीर नेत्रालय और महावीर हार्ट अस्पताल शामिल हैं. इस अस्पतालों के स्टॉफ की सैलरी में करीब हर महीने 5 करोड़ देने होते हैं.इसके साथ ही महावीर मंदिर के कर्मचारियों और पुजारियों को भी वेतन देना होता है.

Find Us on Facebook

Trending News