मैं 16 बरस की, तू 17 बरस काः पटना में फिल्मी कहानी का रूपांतरण, घर से भागे नाबालिग जोड़े स्टेशन पर धराए, पढ़ें पूरी खबर...

मैं 16 बरस की, तू 17 बरस काः पटना में फिल्मी कहानी का रूपांतरण, घर से भागे नाबालिग जोड़े स्टेशन पर धराए, पढ़ें पूरी खबर...

PATNA: वर्षों पहले कर्ज़ फिल्म में एक गाना काफी हिट हुआ था। गाने की बोल की की "मैं 16 बरस का तू 17 बरस की मिल ना जाए नैना एक दो बरस जरा दूर रहना"....... राजधानी पटना के बिहटा थाने में भी ऐसा ही कुछ वाक्य बुधवार को देखने को मिला जब दो नाबालिग लड़का लड़की आपस में प्रेम का इजहार करते हुए अपने परिवार वालों की बिना कोई परवाह किए घर से भागकर दिल्ली पहुंच गए। परिवार वालों के दबाव और पुलिस की कड़क दबिश के कारण दोनों पटना पहुंचे जहां पुलिस ने लड़की को अपने हिरासत में ले लिया है। 

घटना के बारे में बताया जा रहा है कि कल्पना कुमारी (काल्पनिक नाम) और अनिकेश कुमार (काल्पनिक नाम) दोनों की मुलाकात दुल्हिन बाजार थाना क्षेत्र में हुई थी। इसके बाद दोनों मोबाइल से बातें करने लगे। दोनों के बीच दिलों में प्रेम पनपा और फिर दोनों एक दूसरे से मिल कर शादी करने का भी मन बना लिया। दोनों एक दूसरे से बातें करने लगे और फिर दोनों ने घर से भाग कर शादी करने का मन बना लिया। 23 अगस्त को मौका मिलते ही दोनों लड़का और लड़की घर से भागकर दिल्ली जाने के लिए ट्रेन पर सवार हो गए। इस बात की जानकारी लड़का ने अपने परिजनों को भी दी। परिवार के लोगों को जैसे ही इस बात की भनक लगी लड़के के पिता ने अपने बेटे को जल्द से जल्द घर वापस लौटने को कहा । 24 अगस्त को दोनों लड़का और लड़की वापस पटना पहुंचे। लड़के के परिजनों ने 25 अगस्त बुधवार को लड़की के पिता राम राज मिस्त्री को फोन करके बताया कि उनकी बेटी पटना पहुंची है और वह लोग उसे आकर सुरक्षित ले जाएं। इसी बीच लड़का और लड़की दोनों एक दूसरे से अलग होने के लिए तैयार नहीं थे। जब उन्हें यह बताया गया कि अभी वे दोनों नाबालिग हैं और जब तक वह बालिग नहीं हो जाते तब तक उनके शादी की कोई मान्यता नहीं होगी। इस बात को सुनते ही लड़की अपने परिजनों के घर जाने के लिए राजी हो गए। इसी दरम्यान पटना जंक्शन पर तैनात पुलिस ने भी तत्परता दिखाते हुए नाबालिग जोड़े को वक्त रहते अपने पास बुला लिया, अन्यथा आगे कुछ भी हो सकता था।

रेल पुलिस से इस बात की भनक बिहटा थाने को लग गई। बिहटा थाने के पदाधिकारी ने लड़की को अपनी हिरासत में ले लिया है। अनुसंधानकर्ता राजेश्वर पंडित ने बताया कि 23 अगस्त को लड़की की मां फुलवंती देवी द्वारा बिहटा थाने में शादी के नियत से अपहरण का मामला दर्ज कराया गया था। उन्होंने बताया कि क्योंकि अभी लड़का और लड़की दोनों नाबालिक हैं इसलिए आपस में शादी का कोई मतलब ही नहीं बनता है। उन्होंने बताया कि लड़की के बरामदगी के बाद उसकी मेडिकल कराने के बाद न्यायालय में 164 का बयान दर्ज कराया जाएगा।


Find Us on Facebook

Trending News