मकर संक्रांति आज, सुबह 8.30 से लेकर 10.15 बजे तक होगा महापुण्यकाल मुहूर्त, इस अवधि में कर सकते हैं स्नान और दान

मकर संक्रांति आज, सुबह 8.30 से लेकर 10.15 बजे तक होगा महापुण्यकाल मुहूर्त, इस अवधि में कर सकते हैं स्नान और दान

डेस्क... मकर संक्रांति एक ऐसा त्योहार है जिस दिन किए गए काम अनंत गुणा फल देते हैं। मकर संक्रांति को दान, पुण्य और देवताओं का दिन कहा जाता है। मकर संक्रांति को खिचड़ी भी कहा जाता है। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार मकर संक्रांति के दिन सूर्य देव अपने अपने पुत्र शनि के घर जाते हैं। 

मकर संक्रांति से ही ऋतु परिवर्तन होने लगता है। मकर संक्रांति से सर्दियां खत्म होने लगती है और वसंत ऋतु की शुरुआत होती है। इस साल मकर संक्रांति पर विशेष योग बन रहा है क्योंकि सूर्य के साथ पांच अन्य ग्रह (सूर्य, शनि, बृहस्पति, बुध और चंद्रमा) मकर राशि में विराजमान रहेंगे। 

मकर संक्रांति गुरुवार सुबह 8 बजकर 30 मिनट बजे से आरंभ होगी। ज्योतिष के अुनसार यह बहुत शुभ समय माना जाता है। समस्त शुभ कार्याें की शुरुआत इस संक्रांति के पश्चात होतीहै। इसका पुण्य काल मुहूर्त सुबह 8 बजकर 30 मिनट से लेकर शाम 5 बजकर 46 मिनट तक रहेगा। वहीं महापुण्य काल मुहूर्त सुबह 8.30 से 10.15 बजे तक होगा। स्नान और दान इस अवधि में कर सकते हैं। आज के दिन से खरमास समाप्त हो जाएंगे। 

मकर संक्रांति से एक दिन पहले लोहड़ी का पर्व भी मनाया जाता है। मकर संक्रांति पर गुजरात लोग  पतंगबाजी भी करते हैं। मकर संक्रांति को उत्तर भारत के कुछ इलाकों  में खिचड़ी के पर्व के रूप में मनाते हैं। कई जगह खिचड़ी दान की जाती है तो कई जगह खिचड़ी का भोग लगाया जाता है। वहीं दक्षिण भारत के तमिलनाडु व केरल में इसे पोंगल के रूप में मनाते हैं।  पोंगल का पर्व नई फसल आने की खुशी में मनाया जाता है। आइए जानें मकर संक्रांति के दिन किन चीजों का दान करना चाहिए।

ऐसा कहा जाता है कि मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी दान करने से घर में सुख और शांति आती है। इस दिन गुड़ और तिल दान करने से कुंडली में सूर्य और शनि की स्थिति से शांति मिलती है। शनि की साढ़े साती से प्रभावित लोगों को इस दिन तांबे के बर्तन में काले तिल को भरकर किसी गरीब को दान करना चाहिए। मकर संक्रांति के दिन नमक का दान करने से भी शुभ लाभ होता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन का गाय के दूध से बने घी का दान करने से माता लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं। मकर संक्रांति के दिन अनाज दान करने से मां अन्नपूर्णा प्रसन्न रहती हैं।

Find Us on Facebook

Trending News