मोतिहारी स्वास्थ्य विभाग में मार्च लूट! सर्जिकल कंपनी से बालू-गिट्टी,पलंग-सोफा की कथित तौर पर सप्लाई करा लाखों रू की निकासी

मोतिहारी स्वास्थ्य विभाग में मार्च लूट! सर्जिकल कंपनी से बालू-गिट्टी,पलंग-सोफा की कथित तौर पर सप्लाई करा लाखों रू की निकासी

PATNA: बिहार में मार्च लूट कोई नई बात नहीं है। हर साल वित्तीय वर्ष के अंत में सरकारी राशि की लूट होती है। स्वास्थ्य विभाग में एक ऐसे ही मामले का खुलासा हुआ है। स्वास्थय विभाग ने सर्जिकल कंपनी से गिट्टी-बालू और छड़ की सप्लाई ली गई है। इतना ही सर्जिकल दूकान ने सरकारी अस्पताल में सोफा सेट,दीवान पलंग की भी सप्लाई किया है। सर्जिकल सप्लायर की तरफ से दवा की जगह गिट्टी-बालू की सप्लाई करने से बिल पर सवाल खड़े हो गये हैं। बताया जाता है कि सरकारी राशि लूट के लिए कंपनी का फर्जी बिल तैयार कर जमा किया गया और लाखो रू की सरकारी राशि की निकासी कर ली गई।

 सर्जिकल कंपनी ने बालू-गिट्टी की सप्लाई की

मामला पूर्वी चंपारण के स्वास्थ्य विभाग से जुड़ा है जहां के केसरिया पीएचसी में बड़ा फर्जीवाड़ा उजागर हुआ है। केसरिया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की तरफ से चंपारण सर्जिकल से दवा की जगह सोफा-सेट,दीवान पलंग,टीवी, टाटा स्काई  समेत करीब 2 लाख के अन्य सामान की सप्लाई ली। इसके अलावे एक और सर्जिकल कंपनी गणपति सर्जिकल ने गिट्टी,बालू,छड़,बिजली के सामान की सप्लाई किया है। गणपति सर्जिकल की तरफ से 1.13 लाख से अधिक राशि का बिल भुगतान लिया है।

कंपनी ने माना-गलती हुई

जब न्यूज4नेशन ने चंपारण सर्जिकल के मालिक से पूछा तो उन्होंने कहा कि हमें लगा कि सोफा सेट,और पलंग भी सर्जिकल आइटम है। इसी वजह से हमने अस्पताल में सप्लाई किया है। कंपनी ने कहा कि मेरी कंपनी सर्जिकल आइटम की सप्लाई करती है। जब उनसे पूछा गया कि आपकी नजर में सोफा-सेट और पलंग सर्जिकल आइटम है? इस पर उन्होंने कहा कि गलती हो गई। वहीं केसरिया पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से इस संबंध में बात नहीं हो सकी है। 

Find Us on Facebook

Trending News