बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

LATEST NEWS

मोदी सरकार कर रही सेना का दुरूपयोग! कांग्रेस का दावा- राजनीतिक प्रचार के लिए सैनिकों का हो रहा इस्तेमाल

मोदी सरकार कर रही सेना का दुरूपयोग! कांग्रेस का दावा- राजनीतिक प्रचार के लिए सैनिकों का हो रहा इस्तेमाल

DESK. केंद्र की मोदी सरकार पर देश की सेना का राजनीतिक इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है. कांग्रेस ने इसे केंद्र सरकार की ओछी हरकत करार दिया है.  मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि सेना देश भर में सरकारी योजनाओं के प्रचार-प्रसार में मदद करेगी। कांग्रेस महासचिव, संचार, जयराम रमेश ने कहा कि सेना सभी की है और इसे कभी भी देश की आंतरिक राजनीति का हिस्सा नहीं बनाया गया है।



इसको लेकर कांग्रेस नेता ने एक एक्स पोस्ट किया। उन्होंने लिखा कि भारत की सेना पूरे देश की सेना है और हमें गर्व है कि हमारी बहादुर सेना कभी भी देश की आंतरिक राजनीति का हिस्सा नहीं बनी। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि साढ़े नौ साल की सरकार के दौरान महंगाई, बेरोज़गारी और सभी मोर्चों पर विफ़ल रहने के बाद मोदी सरकार अब सेना से अपना राजनीतिक प्रचार कराने का बेहद घटिया प्रयास कर रही है। सेना का राजनीतिकरण करने का यह प्रयास बेहद ख़तरनाक क़दम है। भारतीय सैन्य बलों की सर्वोच्च कमांडर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू जी से हमारा अनुरोध है कि वे इस मामले में हस्तक्षेप करके मोदी सरकार को इस ग़लत कदम को तुरंत वापस लेने का निर्देश दें।



सेना का इस प्रकार होगा इस्तेमाल : केंद्र की फ्लैगशिप योजनाओं जैसे नारी सशक्तिकरण, उज्ज्वला, आत्मनिर्भर और सक्षम भारत को जनता के बीच ले जाने के काम में अब सैन्य और रक्षा प्रतिष्ठानों को भी शामिल किया जा रहा है। रक्षा मंत्रालय ने सेना, वायुसेना और नौसेना के अलावा डीआरडीओ (रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन) व बीआरओ (सीमा सड़क संगठन) को 9 शहरों में सेल्फी पॉइंट्स बनाने को कहा है। यहां प्रधानमंत्रीनरेंद्र मोदी की फोटो के साथ योजनाओं के सेल्फी पॉइंट बनेंगे। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में इस बारे में बैठक हो चुकी है।



सेल्फी पॉइंट्स के लिए 9 शहरों का चयन किया गया है। इनमें दिल्ली, प्रयागराज, पुणे, बेंगलुरु, मेरठ, नासिक, कोल्लम, कोलकाता और गुवाहाटी शामिल हैं। ये पॉइंट्स रेल बस स्टेशन, मॉल और पर्यटन स्थलों पर होंगे। युवाओं को आकर्षित करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) वाले डिजिटल सेल्फी पॉइंट बनेंगे।




Suggested News