झारखंड में बिजली संकट के लिए मोदी सरकार जिम्मेदार, पूर्व भाजपा विधायक ने आंकड़ों के साथ खोली पोल

झारखंड में बिजली संकट के लिए मोदी सरकार जिम्मेदार, पूर्व भाजपा विधायक ने आंकड़ों के साथ खोली पोल

रांची. झारखंड में इन दिनों भीषण गर्मी पड़ रही है. गर्मी के बीच ही बिजली कटौती भी जारी है. यहाँ तक कि बिजली संकट पर क्रिकेटर मेहन्द्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी ने राज्य की हेमंत सोरेन सरकार से तल्ख लहजे में सवाल किया था कि जब झारखंड में बिजली संकट क्यों है. साक्षी के सवाल के बाद राज्य में बिजली संकट पर राजनीति शुरू हो गई थी. अब इसी मुद्दे पर भाजपा के एक पूर्व विधायक ने आंकड़ों के साथ दावा किया है कि बिजली संकट के लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार है. 

बुधवार को 9.00 बजे के बाद निर्दलीय विधायक सरयू राय ने एक साथ कई ट्वीट किये. वे पूर्व में भाजपा के वरिष्ठ नेता रह चुके हैं. आंकड़े के साथ किये ट्वीट में सरयू राय ने बिजली संकट के लिये मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया. इसके साथ ही उन्होंने आंकड़ों के साथ जो जानकारी दी, उससे भाजपा नेता बाबूलाल मरांडी और अन्य नेताओं के बयानों की हवा निकाल दी. 

सरयू राय ने एक ट्वीट में कहाः आज देश में बिजली की मांग और बिक्री के लिये उपलब्धता की स्थिति का घंटावार विवरण उपलब्ध है. देश भर से इंडिया एनर्जी एक्सचेंज में 35,557 से 45,555 मेगावाट बिजली की मांग हुई. लेकिन मिली सिर्फ 190 से 300 मेगावाट. अधिकतम 12 रुपये प्रति मेगावाट की दर से झारखंड ने मांगी 1000 मेगावाट बिजली. मिली सिर्फ 100 मेगावाट. इस ट्वीट से सरयू राय ने साफ कर दिया कि देश और राज्य में जो बिजली संकट है, उसके लिये केंद्र सरकार की नीतियां जिम्मेदार हैं.

इससे पहले एक अन्य ट्वीट में सरयू राय ने कहा, हेमंत सोरेन कहते हैं कि जितनी भी महंगी बिजली मिलेगी, खरीदेंगे. राज्य सरकार ने बकाया का भी भुगतान कर दिया है. तब झारखंड के गांवों घरों में बिजली कटौती क्यों ? सरयू राय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टैग करते हुए लिखाः जनता की मदद करें. पैसा लेकर बिजली दिलायें.

दरअसल बिजली संकट से जूझते झारखंड में विपक्षी पार्टी हेमंत सरकार पर हमलावर है. पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी और अन्य भाजपा नेता मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर हमलावर हैं. धड़ाधड़ ट्वीट कर रहे हैं. सरकार को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. सरकार और सत्ताधारी पार्टी झामुमो व कांग्रेस खामोश है. लेकिन इस बीच सरयू राय ने बिजली संकट के लिए केंद्र सरकार को कठघरे में खड़ा कर अब भाजपा को बैकफुट पर धकेल दिया है. 

Find Us on Facebook

Trending News