पटना में मातमी मंजर : बेटे की मौत के बाद आया नौकरी का ज्वॉइनिंग लेटर, गम में डूबा पिता ने फार डाला

पटना में मातमी मंजर : बेटे की मौत के बाद आया नौकरी का ज्वॉइनिंग लेटर, गम में डूबा पिता ने फार डाला

पटना. राजधानी पटना में एक घर में खुशी का माहौल उस समय मामत में बदल गया, जब अचानक घर के चिराग की मौत की खबर समाने आयी। सड़क हादसे में 22 साल की युवक की दर्दनाक मौत हो गयी है। दर्द का मातमी चहरा घर में बखरा पड़ा ही था कि अचानक युवक की नौकरी का ज्वाइनिंग लेटर आ गया। इसे देख घर में और भी कोहराम मच गया। भाई-बहना, माता-पिता सभा का रोकर बुरा हाल हो गया। लोगों की आंखों से आसूओं की धार उस समय और तेज हो गया, जब मृतक के पिता ने ज्वाइनिंग लेटर फार कर फफक-फफक कर रोने लगा। मृतक नौबतपुर के गोनवां निवासी गया यादव का पुत्र मोनू कुमार बताया जा रहा है। मोनू कुमार सड़क हादसा में गंभीर घायल हो गया। आज उसकी इलाज के दौरान मौत हो गयी।

पिता पर अपने जवान बेटे के गमों का पहाड़ इस कदर टूटा कि पिता ने अपने बेटे के ज्वॉइनिंग लेटर को तुरंत वहीं पर फाड़ डाला। घटना के बाद से गोनवां गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है। इस घटना के बाद मृतक के घर में जहां कोहराम मचा है। वहीं मां सहित अन्य परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। शुक्रवार को घटना के बाद ग्रामीणों का मृतक के घर आने जाने का सिलसिला जारी रहा। इन सबके बीच मृतक की मां के विलाप से लोगों की आंखे बरबस ही नम हो जा रही थी। 'हमरा छोड़ कय किया चैल गैल हो...' कहते मां बेहोश हो जाती थी। गांव की महिलाएं उसे संभालने में जुटी थी।

मिली जानकारी के अनुसार नौबतपुर के गोनवां निवासी गया यादव पुत्र मोनू कुमार अपनी नानी के घर शाहपुर के उसरी में रहता था। 21 फरवरी को मोनू अपने दोस्त के घर नौबतपुर के कर्णपुरा गांव में शादी की पार्टी में गया था। देर रात में लौटते वक्त मोनू कुमार को अनियंत्रित वाहन ने बिहटा-खगौल रोड पर नेउरा गंज के समीप पर कुचल डाला था। गंभीर हालत में मोनू को इलाज के लिए एक नर्सिंग होम लाया गया। 4 दिनों तक जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे मोनू की अंतिम सांसे शुक्रवार को टूट गयी।

Find Us on Facebook

Trending News