पटना के डॉक्टर की पत्नी की मिली लाश, पैर में टैटू, हाथ में कंगन, किस के बुलाने पर नौबतपुर पहुंची रिमझिम, फोन खोल सकता है कई राज

पटना के डॉक्टर की पत्नी की मिली लाश, पैर में टैटू, हाथ में कंगन, किस के बुलाने पर नौबतपुर पहुंची रिमझिम, फोन खोल सकता है कई राज

पटना: राजधानी पटना में एक डॉक्टर की पत्नी को अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी. उसकी शव को पटना के नौबतपुर पुलिस ने नौबतपुर के शेखपुरा बांध स्थित सौंडिक पर सड़क के किनारे खेत में से बरामद किया है। साथ ही नौबतपुर पुलिस को घटनास्थल से 7.62 एमएम की गोली का एक खोखा भी मिला है। रिमझिम के मुंह में और पेट में दो गोली लगी हुई है.

महिला मंगलवार की शाम से ही श्रीकृष्‍णपुरी के सहदेव महतो मार्ग के पास स्थित अपने हेल्थ ब्यूटी केयर सेंट्रल से निकली थी। पूरी रात उसके घर नहीं लौटने पर परिवार ने बुधवार की सुबह श्रीकृष्‍णपुरी थाने में लिखित सूचना दी थी। इसके बाद श्रीकृष्‍णपुरी थाने की पुलिस भी डॉक्‍टर की पत्‍नी की तलाश में जुट गई थी। मारी गई महिला की बहन श्‍वेता पाठक ने करीब 3 घंटे के बाद अपनी बहन के शव की पहचान की। मृतका रिमझिम चतुर्वेदी 38 वर्ष UP के गाजीपुर के प्राइवेट डेंटिस्ट विश्वजीत चतुर्वेदी की पत्नी थी। डॉ विश्वजीत चतुर्वेदी दंत का चिकित्सक है और उनकी पत्नी रिमझिम अपने पुत्र सील कुमार के साथ पटना के कृष्णा पुरी के सहदेव महतो मार्ग के पास स्थित कृष्णा कुंज अपार्टमेंट में रहती थी और हेल्थ ब्यूटी केयर में अपना ब्यूटी पार्लर चलाती थी।

सूचना के बाद घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की तफ्तीश में जुटी हुई है। इस मामला को हाईप्रोफाइल मर्डर केस माना जा रहा है। रिमझिम की मर्डर का राज अब मोबाइल में छुपा है। पुलिस रिमझिम के मोबाइल को तलाशने में जुट गई है। जिस वक्त रिमझिम अपने हेल्थ ब्यूटी केयर से निकली थी तो आखिर किसका फोन रिमझिम के मोबाइल पर आया था। हेल्थ ब्यूटी केयर के स्टाफ की माने तो अचानक मंगलवार की शाम 4 बजे रिमझिम के मोबाइल पर एक कॉल आया और आनन-फानन में रिमझिम अभी तुरंत आई बोलकर हेल्थ ब्यूटी केयर से निकल गयी।

पुलिस के लिए यह भी जांच का विषय बना है कि सहदेव महतो मार्ग से नौबतपुर का सफर रिमझिम किसके साथ और किस गाड़ी से की है। खुली प्रदीप्ति और मॉडल जमाने से ताल्लुक रखने वाली रिमझिम दाहिने पैर में गुलाब का टैटू बना रखी थी। उनके हाथों में सोने के कंगन, मांग में सिंदूर, हाथ की उंगलियों में सोने और चांदी के नग जड़े कीमती अंगूठी, एक पैर में काला मोती के पायल और दूसरे पैरों में काला धागा, एक हाथ में मेहंदी यह बताने के लिए काफी है कि रिमझिम के साथ लूटपाट जैसी कोई घटना नहीं हुई।

रिमझिम की हत्या के बाद नौबतपुर थाना पहुंचा, उनका 14 वर्ष का इकलौता पुत्र शील कुमार अपनी मां की मौत पर स्तब्ध था। बार-बार घटना के बारे में पूछे जाने के बावजूद भी वह इस मामले में कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं था। जिस जगह पर रिमझिम चतुर्वेदी का शव मिला था उसके पूरब पुनपुन का रास्ता जाता है, जबकि पश्चिम बिहटा-सरमेरा मार्ग 78 स्थित है। नौबतपुर पुलिस रिमझिम के मोबाइल नंबर का लोकेशन और उनके कॉल डिटेल्स को खंगालने में भी जुट गई है।

पुलिस यह भी पता लगा रही है कि जिस वक्त रिमझिम चतुर्वेदी बोरिंग रोड स्थित अपने ब्यूटी हेल्थ केयर से निकली थी उसके बाद और उसके पहले उनके मोबाइल पर किन-किन नंबरों का और कितने लोगों का फोन आया था। जानकार यह बताते है कि रिमझिम चतुर्वेदी के मोबाइल नंबर से पुलिस हत्यारों तक पहुंच सकती है। नौबतपुर थानेदार सम्राट दीपक ने कहा कि मामला बेहद हाईप्रोफाइल माना जा रहा है. इसलिए पुलिस अलग अलग एंगल से जांच कर रही है साथ ही अब पुलिस लव अफेयर के एंगल पर आगे बढ़ रही है।

पटना से सुमित कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News