पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री पहुंचे मुजफ्फरपुर, अधिकारियों को दिए कई निर्देश

पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री पहुंचे मुजफ्फरपुर, अधिकारियों को दिए कई निर्देश

MUZAFFARPUR : पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री मुकेश सहनी आज मुजफ्फरपुर पहुंचे और सर्किट हाउस में स्वास्थ विभाग और जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक की. इस दौरान वे जिलाधिकारी एवं सिविल सर्जन से कोविड- 19 को लेकर जिले में चलाए जा रहे विभिन्न गतिविधियों से अवगत हुए. मुजफ्फरपुर के जिलाधिकारी प्रणव कुमार एवं उप विकास आयुक्त डॉ० सुनील कुमार झा के द्वारा संक्रमण के बढ़ते मामले पर प्रभावी नियंत्रण के मद्देनजर अभी तक किए जा रहे कार्यों के बारे में विस्तृत जानकारी  उपलब्ध कराई गई. बैठक में वरीय पुलिस अधीक्षक जयंत कांत एवं सहायक समाहर्ता श्रेष्ठ अनुपम भी उपस्थित थे. 

जिला प्रभारी मंत्री मुकेश सहनी ने एसकेएमसीएच तथा अन्य निजी अस्पतालों में बेड की उपलब्धता, ऑक्सीजन एवं  आवश्यक दवाओं एवं उपकरणों की आवश्यकता की जानकारी ली. साथ ही कोविड-19 से संबंधित किए जा रहे टेस्ट एवं टीकाकरण की अद्धतन स्थिति से भी अवगत हुए. ऑक्सीजन गैस की आपूर्ति में आ रही कठिनाइयों एवं जरूरतमंदों को बेड सुनिश्चित कराने के लिए उठाए गए कदमों की भी जानकारी ली. उन्होंने उपस्थित पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि आवश्यक दवाओं और ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने की दिशा में प्रभावी कदम उठावे. उन्होंने स्पष्ट कहा कि इस संबंध में किसी भी तरह की कमी हो तो  हमें तत्काल अवगत कराया जाए. उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया कि आवश्यक दवाओं एवं ऑक्सीजन की कालाबाजारी करने वाले पर सख्त कार्रवाई करें. जिलाधिकारी ने कहा कि इस संबंध में विभिन्न टीमों का गठन किया गया है जिसके द्वारा आवश्यक कदम उठाये जा रहे हैं. 

साथ ही साथ मंत्री ने कहा कि आवश्यक वस्तुओं एवं दवाओं की आपूर्ति पर विशेष नजर रखी जाए. अनावश्यक भंडारण के विरुद्ध सख्ती बरती जाए. उन्होंने निर्देश दिया कि निजी अस्पतालों पर भी निगरानी रखने की जरूरत है. उन्होंने निर्देश दिया कि विभिन्न अस्पतालों में उपलब्ध ऑक्सीजन गैस की रिक्वायरमेंट्स एवं उनको की  जा रही आपूर्ति, दवाओं की उपलब्धता, विभिन्न अस्पतालों में एडमिट मरीजों की संख्या, डिस्चार्ज मरीजों की संख्या तथा डेथ संबंधी दैनिक प्रतिवेदन विहित प्रपत्र में उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें. 

उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि कि इस विश्वव्यापी महामारी के कारण उत्पन्न हालातों पर प्रभावी नियंत्रण के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन आपसी समन्वय के साथ कार्य करते हुए जनहित में अपने कर्तव्यों का गंभीरतापूर्वक पालन करें. कहा कि पूरा  एफर्ट लगाने की जरूरत है. साथ ही उन्होंने हिदायत भी दी कि इस संबंध में  पाई गई शिकायतों को गंभीरता से लिया जाएगा. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि मरीजों के समुचित इलाज और उपचार में लापरवाही बरतने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. 

इसके बाद मंत्री एसकेएमसीएच पहुंचे. वहां उन्होंने  कोविड-19 से संबंधित इलाजरत मरीजों को उपलब्ध कराई गई सुविधाओं का जायजा लिया. साथ ही अस्पताल प्रशासन  के साथ बैठक भी की. इस दौरान  उन्होंने एसकेसीएच में इलाजरत मरीजों की संख्या,ऑक्सीजन गैस ,आवश्यक दवाओं एवं उपकरणों की उपलब्धता की जानकारी ली. उन्होंने एसकेएमसीएच प्रशासन को निर्देशित किया कि निर्धारित प्रोटोकॉल के तहत मरीजों का इलाज करना सुनिश्चित करें. तय रोस्टर के अनुसार चिकित्सक एवं पैरामेडिकल स्टाफ वार्डो को विजिट करें. कहा कि अस्पताल में एडमिट मरीजो की समुचित चिकित्सा में पूरी समर्पण/निष्ठा के साथ कार्य करते हुए दायित्वों का निर्वहन किया जाय. इन विपरीत परिस्थितियों में चिकित्सकों द्वारा किये जा रहे कार्यो की सराहना भी की.

इस मौके पर उन्होंने जिले वासियों से अपील करते हुए कहा कि इस आपदा काल में प्रत्येक जनमानस की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है कि वे अपने आसपास के लोगों की मदद करें. जागरूक करें तथा खुद सुरक्षित रहते हुए दूसरों को भी सुरक्षित रखे.अफवाहों से बचने की भी बात कही. साथ ही कहा कि जिला स्तर पर किसी प्रकार की शिकायत/ सुझाव मदद की जरूरत हो तो जिला प्रशासन द्वारा जारी किए नियंत्रण कक्ष के दूरभाष नंबर पर संपर्क कर सकते हैं. कहा कि प्रत्येक व्यक्ति कोविड गाइडलाइन का पालन करे. मास्क का अनिवार्य उपयोग करें एवं सोशल डिस्टेंसिग का अक्षरशः पालन करें. समय-समय पर जारी सरकार की महत्वपूर्ण दिशा- निर्देशों का भी अनुपालन करें. 

मुजफ्फरपुर सेअरविंद अकेला की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News