बिहार उत्तरप्रदेश मध्यप्रदेश उत्तराखंड झारखंड छत्तीसगढ़ राजस्थान पंजाब हरियाणा हिमाचल प्रदेश दिल्ली पश्चिम बंगाल

BREAKING NEWS

  • स्कूल टाइमिंग पर नहीं मानना है केके पाठक का आदेश, एमएलसी नीरज का ऐलान- सिर्फ सीएम नीतीश की बात मानें शिक्षक
  • स्कूल टाइमिंग पर नहीं मानना है केके पाठक का आदेश, एमएलसी नीरज का ऐलान- सिर्फ सीएम नीतीश की

  • हाजीपुर कोर्ट जा रहे दो बाइक सवार सड़क दुर्घटना के हुए शिकार, एक की मौके पर हुई मौत, दूसरा गंभीर रुप से जख्मी
  • हाजीपुर कोर्ट जा रहे दो बाइक सवार सड़क दुर्घटना के हुए शिकार, एक की मौके पर हुई मौत,

  • राजद विधायक सुधाकर की चुनौती,  बक्सर में दिखेगा प्रधानमंत्री के खिलाफ जनाक्रोश, सीएम नीतीश को भी दिया चैलेंज
  • राजद विधायक सुधाकर की चुनौती, बक्सर में दिखेगा प्रधानमंत्री के खिलाफ जनाक्रोश, सीएम नीतीश को भी दिया

  • अनुमंडल अस्पतालों में उपलब्ध कराए जाएंगे शव वाहन.. विधानसभा में नीतीश मिश्रा के सवाल पर सरकार ने दिया जवाब
  • अनुमंडल अस्पतालों में उपलब्ध कराए जाएंगे शव वाहन.. विधानसभा में नीतीश मिश्रा के सवाल पर सरकार ने दिया

  • पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष के निधन पर सीएम नीतीश ने व्यक्त की गहरी शोक-संवेदना
  • पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व लोकसभा अध्यक्ष के निधन पर सीएम नीतीश ने व्यक्त की गहरी शोक-संवेदना

  • सीएम नीतीश के चहेते विधायक गोपाल मंडल को फिर मिलेगा रिवॉल्वर, लाइसेंस हुआ निलंबन मुक्त
  • सीएम नीतीश के चहेते विधायक गोपाल मंडल को फिर मिलेगा रिवॉल्वर, लाइसेंस हुआ निलंबन मुक्त

  • बिहार BJP कार्यालय के बाहर भारी लाठीचार्ज, वर्दी वालों को ही दौड़ा दौड़ा कर पुलिस ने पीटा, महिलाओं को नहीं बख्शा
  • बिहार BJP कार्यालय के बाहर भारी लाठीचार्ज, वर्दी वालों को ही दौड़ा दौड़ा कर पुलिस ने पीटा, महिलाओं

  • नरेंद्र नारायण यादव बने विधानसभा उपाध्यक्ष, मुख्यमंत्री समेत अन्य दल के विधायकों ने दी बधाई
  • नरेंद्र नारायण यादव बने विधानसभा उपाध्यक्ष, मुख्यमंत्री समेत अन्य दल के विधायकों ने दी बधाई

  • BREAKING : भीषण सड़क हादसे में विधायक नंदिता की दर्दनाक मौत, चालक को नींद आने की वजह से हुई दुर्घटना
  • BREAKING : भीषण सड़क हादसे में विधायक नंदिता की दर्दनाक मौत, चालक को नींद आने की वजह से

  • स्टैंड से निकलने के साथ ही बस लग गई भीषण आग, मच गई अफरा-तफरी, डर के मारे यात्रियों ने कहा -हे भगवान
  • स्टैंड से निकलने के साथ ही बस लग गई भीषण आग, मच गई अफरा-तफरी, डर के मारे यात्रियों

2023 संसद रत्न अवार्ड के लिए बेस्ट सांसद के नामों की हुई घोषणा, बिहार से सिर्फ एक नाम ही सूची में शामिल

2023 संसद रत्न अवार्ड के लिए बेस्ट सांसद के नामों की हुई घोषणा, बिहार से सिर्फ एक नाम ही सूची में शामिल

PATNA : संसद के बजट सत्र के दौरान इस साल मिलनेवाले संसद रत्न अवार्ड 2023 के लिए दावेदारों के नाम जारी कर दिए गए हैं।  13 सांसदों को नॉमिनेट किया गया है। इन 13 सांसदों में आठ लोकसभा और पांच राज्यसभा के सदस्य हैं। जिसमें एक नाम राजद के राज्यसभा सांसद मनोज झा का भी है।

 केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल की अध्यक्षता और पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एस कृष्णमूर्ति की सह-अध्यक्षता में प्रतिष्ठित सांसदों और नागरिक समाज की जूरी ने सांसदों को नामित किया है। जूरी ने विशेष पुरस्कार श्रेणी के तहत विभागीय रूप से संबंधित दो स्थायी समितियों और एक प्रतिष्ठित नेता को भी नामांकित किया गया। समिति में प्रतिष्ठित सांसद और नागरिक समाज के सदस्य शाइन नेताओं का नाम शामिल है

लोकसभा से इन्हें किया गया नामांकित

संसद रत्न अवार्ड के लिए कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी, भाजपा के बिद्युत बरन महतो, डॉक्टर सुकांत मजूमदार, कांग्रेस के कुलदीप राय शर्मा, भाजपा के विजयकुमार गवित, गोपाल शेट्टी, सुधीर गुप्ता और एनसीपी के डॉ. अमोल रामसिंह कोल्हे को 17 वीं लोकसभा में विभिन्न श्रेणियों के तहत उनके प्रदर्शन के लिए शामिल किया गया है।

मनोज झा, जयंत सिन्हा और  फौजिया तहसीन भी नामित

राज्यसभा में 2022 में बेहतर प्रदर्शन के लिए सीपीएम के सदस्य जॉन ब्रिट्स, राजद के मनोज झा और एनसीपी की फौजिया तहसीन अहमद खान को 'वर्तमान सदस्य' श्रेणी के तहत नामित किया गया है। वहीं, विशंभर प्रसाद निषाद (सपा) और छाया वर्मा (कांग्रेस) को अपने कार्यकाल के दौरान उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सेवानिवृत्त सदस्य श्रेणी के तहत नामित किया गया है।  वित्त समिति (लोकसभा समिति के अध्यक्ष जयंत सिन्हा) और परिवहन, पर्यटन और संस्कृति समिति (राज्सभा समिति के अध्यक्ष वी विजयसाई रेड्डी, वाईएसआर कांग्रेस) को 17वीं लोकसभा की शुरुआत से ही उनके उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए नामांकित किया गया है।

डॉ.  कलाम ने की थी शुरुआत

संसद रत्न पुरस्कारों की स्थापना पूर्व राष्ट्रपति दिवंगत डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के सुझाव पर शीर्ष प्रदर्शन करने वाले सांसदों को सम्मानित करने के लिए की गई थी। उन्होंने खुद 2010 में चेन्नई में पुरस्कार समारोह के पहले संस्करण का शुभारंभ किया। अब तक 90 सांसदों को इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

अवार्ड के लिए नामांकन 17 वीं लोकसभा की शुरुआत से लेकर शीतकालीन सत्र 2022 के अंत तक प्रश्नों, निजी सदस्यों के बिलों और सदस्यों की बहस के दौरान उनके प्रदर्शन पर आधारित हैं। संसद के सदस्यों के प्रदर्शन डेटा को पीआरएस द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों से प्राप्त किया गया है।