नवप्रवर्तन योजना के अंतर्गत संचालित उद्योग कलस्टर का मुआयना करने पहुंचे डीएम

नवप्रवर्तन योजना के अंतर्गत संचालित उद्योग कलस्टर का मुआयना करने पहुंचे डीएम

  लखीसराय।    कोरोना संक्रमण के दौरान देश के विभिन्न इलाकों से अपने घर लौटे प्रवासी मजदूरों के कल्याण के लिए सरकार ने जिला औद्योगिक नवप्रवर्तन योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत लखीसराय जिले में भी 5 से अधिक क्षेत्रों में औद्योगिक क्लस्टर का निर्माण कर प्रवासी मजदूरों को रोजगार  के अवसर प्रदान करने की कार्रवाई की जा रही है। इसी क्रम में आज लखीसराय जिला के विद्यापीठ चौक के समीप स्थित श्रीराम कंक्रीट उद्योग का विधिवत् शुभारंभ किया गया। इसके अलावा सूर्यगढ़ा प्रखंड के रामपुर में स्थित गोविंद गारमेंट कलस्टर के तहत प्रवासी मजदूरों को रोजगार के अवसर मुहैया कराए गए हैं। इसके अलावे अन्य क्लस्टर यथा रंग अबीर उद्योग, गेट-ग्रिल उद्योग, दाल प्रोसेसिंग, फर्नीचर क्लस्टर आदि के  निर्माण की कार्यवाही जिला उद्योग केंद्र के माध्यम से की जा रही है।

    आज इसी क्रम में जिला पदाधिकारी श्री संजय कुमार सिंह द्वारा श्री राम कंक्रीट उद्योग एवं श्री गोविंद गारमेंट क्लस्टर का मुआयना किया गया। उन्होंने बताया कि बिहार सरकार प्रवासी मजदूरों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। उन्हें रोजगार के अवसर प्रदान करने हेतु स्थानीय  तौर पर क्लस्टर बनाकर योजना के प्रावधान के अनुसार राशि मुहैया कराई गई है। इन दोनों क्लस्टरों के द्वारा कार्य प्रारंभ कर दिया गया है एवं प्रवासी मजदूर भी कार्यरत हैं। उल्लेखनीय है कि श्री राम  कंक्रीट उद्योग में स्थानीय सलोना चक के रहने वाले नई दिल्ली से आए शिवम कुमार, वंशीपुर के रहने वाले हैं जालंधर से आए धर्मेंद्र कुमार, बड़हिया के रहने वाले अशोक कुमार, दिल्ली से आए राजीव कुमार, जमशेदपुर से आए चिंटू कुमार, मुकेश कुमार, राजेश पासवान को इस उद्योग के माध्यम से रोजगार के अवसर मुहैया कराए गए है। श्री राम कंकरीट उद्योग के द्वारा पेवर ब्लॉक, ह्यूम पाइप, कंक्रीट के गमले इत्यादि तैयार किया  जा रहा है। आज इसका विधिवत् शुभारंभ किया गया।


    इसी प्रकार सूर्यगढ़ा प्रखंड अंतर्गत रामपुर में स्थित श्री गोविंद गारमेंट कलस्टर के माध्यम से भी स्थानीय मानो के रहने वाले आसनसोल से आए गणेश कुमार साव, रामपुर के रहने वाली दिल्ली से आई अनिता कुमारी, शाहदरा दिल्ली से आए विकास कुमार, मंसा देवी, रंजीत कुमार, कोलकाता से आए राजा पंडित इत्यादि अन्य प्रवासी मजदूरों  को रोजगार के अवसर प्रदान किए गए हैं। इस क्लस्टर में इनके अलावे गुंजा देवी, कल्पना देवी, आरती कुमारी, ममता देवी सहित अन्य कारीगर भी कार्यरत हैं। श्री गोविंद गारमेंट कलस्टर के द्वारा ट्रैक सूट, पैंट, शर्ट, हाफ पैंट, स्पोर्ट्स टी शर्ट, पैंट इत्यादि रेडीमेड कपड़े को तैयार किया जा रहा है।

 मौके पर विशेष कार्य पदाधिकारी, जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक उदय शंकर प्रसाद सिन्हा, स्थानीय मुखिया कुंदन कुमार सहित काफी संख्या में ग्रामीण एवं स्थानीय लोग उपस्थित थे।

Find Us on Facebook

Trending News